Breaking News:

50 मीटिंग हुई थीं कमलेश तिवारी के क़त्ल से पहले.. अंतिम सर्टिफिकेट एक मौलाना ने दिया.. जबकि आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता


हिन्दू समाज पार्टी के नेता कमलेश तिवारी की ह्त्या के मामले में एक के बाद एक हैरान करने वाले खुलासे हो रहे हैं. कमलेश तिवारी की क्रूरतम ह्त्या मामले में बड़ी खबर ये सामने आई है कि उनके क़त्ल से पहले कम से कम 50 मीटिंग्स की गईं थी. इन्हीं मीटिंग्स के मौलाना मोहसिन ने अंतिम सर्टिफिकेट दिया था कि शरीयत के अनुसार कमलेश तिवारी वाजिब उल क़त्ल है तथा उसकी ह्त्या करना अल्लाह की नजर में गुनाह नहीं है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड में गुजरात ATS द्वारा कमलेश तिवारी की ह्त्या में प्रमुख रूप से शामिल 5 में से तीन उन्मादी राशिद, मौलाना मोहसिन तथा फैजान को गिरफ्तार किया है. हालाँकि कमलेश तिवारी की ह्त्या को अंजाम देने वाले अशफाक तथा मोइनुद्दीन अभी तक फरार हैं. कमलेश तिवारी की ह्त्या में जो सबसे बड़ी बात सामने आई है वो ये है कि मौलाना मोहसिन ने राशिद तथा अन्य उन्मादियों को कमलेश तिवारी की ह्त्या के लिए तैयार किया था. मौलाना ने कमलेश तिवारी की ह्त्या की योजना को अंतिम सर्टिफिकेट देते हुए कहा था कि ये गुनाह नहीं है.

कमलेश तिवारी पर हमले तथा उनकी ह्त्या का पूरा षड्यंत्र रशीद ने ही दो महीने सूरत में रहकर रचा था। भाई सईद की शादी के लिए आए रशीद को मौलाना मोहसिन सलीम शेख ने और भड़का दिया था. जिलानी पार्क में रहने वाले रशीद शेख ने भाई फरीद शेख और उसी बिल्डिंग में रहने वाले दोस्त अशफाक के साथ पड़ोस की ग्रीन व्यू बिल्डिंग में रहने वाले फैजान और एक मौलवी मोहसिन को भी इस साजिश में शरीक कर लिया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share