Breaking News:

गौ रक्षकों को गुंडा घोषित करवाने वाले गौ हत्यारों का मौत का खेल शुरू .. हरियाणा पुलिस पर बरसाईं गोलियां

एक बेहद सोची समझी साजिश के साथ वो आगे बढे थे .. कईयों ने सोशल मीडिया संभाला , कुछ ने सड़कों पर आंदोलन किया , कुछ टी वी चैनलों पर आ कर बैठ गए .. कुछ ने झूठी पट्टी आदि बंधवा लिया , फिर कुछ लोगों को खोज कर सामने लाया गया जिन्हे अच्छे से सिखाया गया था रोने आदि की पूरी प्रैक्टिस करवाई गयी .. आखिर में मिल कर सबने एक साथ धावा बोल दिया , सत्ता से सोशल मीडिया तक एक साथ चीख पड़े और हर तरफ एक ही नारा था कि गौ रक्षक हत्यारे हैं , गौ रक्षक गुंडे हैं .. फिर तो खेत , राह , पड़ोस के भी झगड़े गौ माता से जोड़े जाने लगे और अचानक ही एक माहौल बन गया ..

बिलकुल ठीक इसी समय संसद में एक पूरी टोली उठ खड़ी हुई , वो टोली जो श्री राम के अपमान पर ठहाके लगा कर हंस रही थी .. उन्होंने संसद की कार्यवाही तक में बाधा पंहुचा डाली और सत्ता को एक प्रकार से घुटने टेकने पर मजबूर सा कर दिया .. जब वो अपने कुत्सित इरादों में सफल रहे तो उन्होंने दिखाना शुरू कर दिया अपना असली रूप और शुरू किया वो सब कुक जो वो असल में चाहते थे .. 

एक बार फिर गौ हत्यारों के निशाने पर आ चुके हैं समाज के रक्षक वर्दी वाले पुलिस के जवान . बुधवार को हरियाणा पुलिस के नूह पुलिस स्टेशन की टीम ने जब पशु तस्करों की एक ट्रक को रोकने की कोशिश की तब पशु तस्करों ने उस पर गोलियों की बौझार कर दी .. इन गोलियों की बौझार में हरियाणा पुलिस के दो जवान घायल हो गए पर फिर भी उस जांबाज़ टीम ने उनका पीछा नहीं छोड़ा और अंत में पकड़ कर ही दम लिया . 

ज्ञात हो कि बुधवार को हरियाणा के मुस्लिम बहुल इलाके मेवात के बीबीपुर मोड़ पर एक टाटा 407 आती दिखी जिसे पुलिस ने रुकने का इशारा किया .  टाटा 407 का नंबर था RJ 05 GA 5061 . इस ट्रक में 9 गौ वंश भरे थे जिनको बेहद क्रूरता के साथ भरा गया था , ये घटना रात ११ . ३० की है. इस वाहन का पीछा कर रहे सिपाही मूल चंद और सिपाही मनोज कुमार पर पहले पत्थर बरसाए गए और उसके बाद उन पर गोलियां बरसाई गयी .. इस टाटा 407 में कुल 9 गौ हत्यारे थे जिन्हे पुलिस ने आखिर में पकड़ ही लिया .. इन गौ हत्यारों के नाम रोज़दार , शकील , इरशाद , इवरिश , कय्याम , वसीम , आबिद, आसिफ हैं जिनके साथ एक ड्राइवर थी पुलिस की गिरफ्त में है ..  ASI सतबीर सिंह जी ने बताया है कि पकडे गए अपराधियों से पूछताछ चल रही है और विधिक कार्यवाही कर के उचित धाराओं में उन्हें पाबंद किया जाएगा .


समाज के रसखयक वर्दी वालों पर हुए इस जानलेवा हमले के विरोध में एक भी आवाज नहीं उठ रही है .. ना ही वो दिख रहे जो मानवीय जान को सबसे आगे रखते हैं , उन्हें उत्तर जरूर देना चाहिए जिसकी संभावना कम ही है ..  

Share This Post