मेनका गांधी ने शिकायतों का निपटारा न होने के वजह से जिम्मेदारों को फटकारा..

पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद मेनका गांधी ने रविवार को जनपद में शिकायतों का निपटारा न होने पर संबंधित अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई. बिजली विभाग की ढेरों शिकायतें सांसद मेनका गांधी के सामने आईं और मौके पर उन्होंने एसडीओ को जमकर फटकार लगाई.

सुलतानपुर दौरे के दूसरे दिन रविवार को सुबह कलेक्ट्रेट सभागार में मेनका गांधी ने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की, और उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या का 10-12 दिन के अंदर हर हाल में निवारण हो जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि 4 दिन की बारिश में बिजली के 200 खंभे उखड़ गए, ट्रांसफॉर्मर दूसरे दिन ही जले जा रहे हैं. बिजली के बिल दस गुना आ रहे हैं, जिसके वजह से जनता बहुत परेशान है.

सांसद ने अधीक्षण अभियंता धीरज सिन्हा को हिदायत दी कि 15 दिन के भीतर यदि बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं हुआ तो बिजली कंपनी बजाज के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज कराकर 100 करोड़ की रिकवरी कराएं,  इस कंपनी को 275 करोड़ का ठेका दिया गया. कंपनी के मालिक को भी सांसद ने जमकर फटकारा. उन्होंने कहा कि पिछले एक माह में विद्युत आपदा से छह मौते हुई हैं. मृतकों के आश्रितों को मुआवजे की रकम सप्ताह भर में दिलवा दे. सांसद ने एसडीओ बृजेश कौशिक को आगाह किया कि यदि जनता को जरा भी परेशानी हुई तो निलंबन ही नहीं बर्खास्तगी भी होगी.

Share This Post