पिता को रास नहीं आई बेटे की उन चारों से करीबी, तो कर दी समाजवादी लोहिया ट्रस्ट से उनकी छुट्टी… जानिए कौन है वो चार लोग

समाजवादी पार्टी में शह-मात का खेल जारी है। मुलायम सिंह यादव की अध्यक्षता में आज लोहिया ट्रस्ट की बैठक में रार एक बार फिर सतह पर आ गई। समाजवादी लोहिया ट्रस्ट से पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी चार सदस्यों की छुट्टी कर दी गई। मुलायम ने अखिलेश के करीबी और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष राम गोविंद चौधरी, विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, ऊषा वर्मा और आलोक शाक्य की ट्रस्ट से सदस्यता रद्द कर दी।

इनकी जगह पर राम नरेश यादव, राम सेवक यादव, राजेश यादव और दीपक मिश्रा को दे दी गई है। राम नरेश और राम सेवक यादव परिवार से हैं, जबकि राजेश यादव हरदोई से संबंध रखते हैं और शिवपाल के करीबी हैं। दीपक मिश्रा भी शिवपाल के करीबी माने जा रहे है। दरअसल, मुलायम ने मंगलवार को लोहिया ट्रस्ट की वार्षिक बैठक बुलाई थी। इस बैठक में अध्यक्ष मुलायम सिंह के अलावा सदस्य शिवपाल यादव और भगवती सिंह बैठक में शामिल हुए।  

ट्रस्ट के सदस्य राम गोपाल यादव और अखिलेश यादव को भी आमंत्रित किया गया था लेकिन ये दोनों बैठक में नहीं पहुंचे। इससे साफ जाहिर होता है कि यादव परिवार में कलह अभी भी जारी है। वहीं, इस दौरान शिवपाल ने मीडिया के सामने कहा कि मुलायम सिंह की अध्यक्षता में लोहिया बैठक हुई। इसमें राम मनोहर लोहिया के विचारों के प्रचार- प्रसार पर विस्तार से चर्चा की गई।

इसके साथ ही कहा कि अखिलेश और रामगोपाल के बैठक में न आने पर कहा कि सभी को आमंत्रित किया गया था और पहले से सूचना दी गई थी, हो सकता है कि व्यस्तता के चलते ये दोनों नहीं आ पाए हों। उन्होंने उम्मीद जताई कि अगली बैठक में ये लोग आएंगे। शिवपाल ने आगे कहा कि हम चाहते हैं कि पार्टी और परिवार एक रहे और सपा में बिखराव की खबरें बेबुनियाद हैं। 

Share This Post

Leave a Reply