इन दोनों भाईयो को मुम्बई रखेगी सदा याद जो बलिदान हो गए औरों के लिए

मुंबई के कमला मिल में रूफटॉप पब में आग लगने से 14 लोगों की मौत हो गई है। इस हादसे में दो भाईयों की भी जान चली गई, जोकि अमेरिका से छुट्टी मनाने आए थे। दोनों भाई अपने अंकल-आंटी के साथ एक्जिट गेट तक सुरक्षित आ गए थे, लेकिन हादसे में फंसे लोगों की मदद के लिए वे दोनों फिर से अंदर चले गए।

धैर्य (26) और विश्वा (22) अमेरिका में अपनी आंटी भारती के साथ रहते थे। दोनों भाई छुट्टी मनाने के लिए भारत आए थे और 29 दिसंबर की रात को अपने अंकल आंटी के साथ डिनर करने यहां आए थे।

तभी वहां भीषण आग लग गई।
भारती ने बताया कि दोनों भाई उनके साथ एक्जिट गेट तक आ गए थे, लेकिन तभी उन्हें पता चला कि बाकी रिश्तेदार पीछे छूट गए हैं और वे उन्हें बचाने के लिए वापस चले गए। दोनों भाईयों ने कई लोगों को सुरक्षित बाहर निकालने में मदद की, लेकिन खुद को नहीं बचा पाए।
भारती ने बताया कि, ‘आग लगने के बाद सभी अपनी जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे और इसी भगदड़ में लोग एक-दूसरे के ऊपर गिर भी रहे थे।

उन्होंने बताया कि वह और उनके पति भी रेस्टोरेंट की सीढ़ियों पर गिर गए और हमारे ऊपर कई और लोग गिर पड़े।’ इसके बाद वह जैसे तैसे वहां से निकले।
बाहर निकलने के बाद उन्होंने धैर्य और विश्वा के बारे में लोगों से पूछा, जिसके बाद जानकारी मिली की दोनों भाई आग की चपेट में आ गए। इस हादसे के बाद पूरा परिवार शोक में डूबा है।

Share This Post