मुंबई की चमकदार जिन्दगी ने देखा लव जिहाद का अंधेरा सच… मुजम्म्ल सईद ने चाकुओं से गोद डाला मॉडल मानसी दीक्षित को

मानसी दीक्षित को मॉडल बनने का शौक चढ़ा तो वह राजस्थान छोड़कर मुंबई चली आयी. उसने सोचा था कि मुंबई की चमक में उसका कैरियर भी चमक उठेगा. मुंबई आकर मॉडल बनने की चाहत में उसकी दोस्ती मुजम्म्ल सईद से हुई तथा ये दोस्ती प्यार में बदल गयी. लेकिन जब तक ये परवान चढ़ पाता, उससे पहले ही मुजम्म्ल सईद ने मॉडल मानसी दीक्षित की चाकुओं से गोदकर ह्त्या कर दी. इस तरह से मुंबई की चमकदार जिन्दगी की चाहत में मानसी दीक्षित पहले लव जिहाद में फंसी और अपनी जान गंवा बैठी तथा एक सेक्यूलर प्रेमकहानी का वही अंत हुआ जो लव जिहाद के मामलों में होता है.

मुंबई की बांगुर नगर पुलिस के अनुसार, ’20 साल की दीक्षित राजस्थान की रहने वाली थी और मुंबई में मॉडल बनने के लिए आई थी.’ पुलिस का मानना है कि दीक्षित की मुजम्मल सईद से मुलाक़ात इंटरनेट के जरिए हुई थी. वारदात के दिन वह सईद से मिलने उसके घर पर गई थी जहाँ किसी कारण से सईद ने दीक्षित के सिर पर धारदार हथियार से वार किया इसके बाद उसका गला दबाकर हत्या कर दी. एक अधिकारी ने कहा, ‘आरोपी ने मॉडल के शव को सूटकेस में भरा और अंधेरी से मलाड तक के लिए प्राइवेट कैब बुक कराई. इसके बाद उसने उसके शव को माइंडस्पेस में मैंग्रोव पेड़ों के पास फेंक दिया.’ इसके बाद वह वहां से भाग गया. पुलिस को दीक्षित की हत्या के बारे में उस कैब ड्राइवर ने बताया जिसे सैयद ने हायर किया था.

ड्राइवर ने देखा कि सैयद सूटकेस को फेंककर रिक्शे से भाग रहा है. इसके बाद उसने पुलिस को सैयद की हरकतों के बारे में बताया. पुलिस घटनास्थल पर कुछ मिनट बाद ही पहुंची और दीक्षित के शव को बरामद किया. सूत्रों का कहना है कि घटना में इस्तेमाल की गई रस्सी को बरामद कर लिया गया है. सीसीटीवी फुटेज के अनुसार पुलिस ने उस रिक्शा की पहचान की जिससे सैयद भागा था. इसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया.

Share This Post