Breaking News:

अपनी बीबी से वैश्यावृत्ति करवाना चाहता था जलील शेख.. जब वो न मानी तो जल्लादों को भी मात दे गया दरिंदा

पति-पत्नी के रिश्ते को इतनी हैवानियत तथा क्रूरता से कुचलने वाला ऐसा शायद ही कोई मामला कभी देखा हो. घटना देश की राजधानी दिल्ली के दक्षिण पश्चिम जिले की है जहाँ जलील शेख ने अपनी पत्नी को वैश्यावृत्ति के धंधे में धकेलना चाहा. पत्नी ने मना किया तो जलील शेख भड़क गया तथा गला घोंटकर पत्नी की ह्त्या कर दी. इसके बाद जलील ने बीवी के शव को बोरे में भरकर सूनसान जगह पर फेंक फरार हो गया. काफी छानबीन के बाद पुलिस ने जलील को पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार किया है.

370 का कलंक धोने से पहले मोदी सरकार ने किया था वो काम जिससे साबित होगा कि लौट रही है सत्य सनातन संस्कृति

दक्षिण पश्चिम जिले के डीसीपी देवेन्द्र आर्या ने बताया कि आरोपित जलील शेख इससे पहले मानव तस्करी के मामले में भी गिरफ्तार हो चुका है. उसकी दो पत्नियां थीं. दूसरी वेस्ट बंगाल में रहती थी. पहली वाली के साथ वह दिल्ली में रहता था. छह अगस्त को वेस्ट सागरपुर के शिवपुरी कलाड स्थित बारात घर के पास एक बोरी में एक महिला का शव मिलने से लोग दंग रह गए तथा पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने जांच-पड़ताल शुरू की तो पता चला महिला का पति जलील शेख फरार है.

अब तक कांग्रेस मुक्त भारत का एलान था, अब एक सूबा ऐसी मुक्ति का एलान कर रहा जो खौफ है बाकी पार्टियों के लिए

इसके बाद एसीपी मनीष जोरवाल के नेतृत्व में पुलिस टीम ने तफ्तीश शुरू की गई. 17 अगस्त को एक व्यक्ति के माध्यम से व्हाट्सऐप पर मृतका की पहचान कर उसकी बहन से पुलिस मिली. उसने बताया कि मृतक महिला का नाम फातिमा सरदार है. वह मूलत: वेस्ट बंगाल के साउथ 24 परगना की रहने वाली थी. इसके बाद जलील शेख की तलाश टेक्निकल सर्विलांस के माध्यम से शुरू की गई. उसके बाद जलील को तलाशती पुलिस वेस्ट बंगाल स्थित उसके घर पहुंची तो वह परिवार समेत फरार था.

जुमे की नमाज़ के बाद हुआ एलान- “वो फिल्म चली तो धूं धूं कर जलेंगे सिमेमाघर”

सूचना मिली कि आरोपित जलील शेख अपनी बाइक बेचने के लिए कोलकाता गया है. इसके बाद दिल्ली पुलिस ने आखिरकार उसे रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपित ने बताया कि वह फातिमा को 2014 में दोस्त बनाकर दिल्ली लाया था और यहां उससे शादी कर ली. दोनों से एक बेटा भी था. दोनों सागरपुर में किराए के मकान में पिछले छह माह से रह रहे थे. बाद में वह पत्नी से देह व्यापार कराना चाहता था, लेकिन फातिमा नहीं मानी तो एक दिन उसने उसकी हत्या कर दी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

Share This Post