सिर्फ सुदर्शन ने दी थी चेतावनी तो कईयों को लगा था मजाक.. हैदराबाद में इसरो वैज्ञानिक की ह्त्या

वही हुआ जिसकी चेतावनी सुदर्शन ने पहले से ही दी थी. जब सुदर्शन ने ये चेतावनी दी थी तब कईयों ने इसका मजाक उड़ाया था. लेकिन आज सुदर्शन की ये चेतावनी उस समय सच चेतावनी उस समय सच साबित हुई है जब इसरो के एक वैज्ञानिक की उनके आवास पर ह्त्या कर दी गई. खबर के मुताबिक़, इसरो वैज्ञानिक एस. सुरेश की किसी अज्ञात आदमी ने हैदराबाद के बीचोंबीच अमीरपेट इलाके में स्थित अन्नपूर्णा अपार्टमेंट के उनके फ्लैट में हत्या कर द.जिस समय वैज्ञानिक की ह्त्या की गई, उस समय वह अपने फ्लैट में अकेले ही थे.

जब भारत के मिशन चन्द्रयान 2 के लैंडर विक्रम की चाँद पर सॉफ्ट लैंडिंग नहीं हो पाई थी तो उस समय सुदर्शन टीवी के प्रधान संपादक श्री सुरेश चव्हाणके जी ने इस मुद्दे पर 2 बिंदास बोल किये थे. इसमें सुरेश जी ने जहाँ इसरो के वैज्ञानिकों के तप तथा मेहनत के लिए सराहना की थी लेकिन साथ ही चेतावनी भी दी थी कि इसरो के वैज्ञानिक भारत विरोधी तत्वों के निशाने पर हो सकते हैं. बिंदास बोल में सुरेश जी ने आशंका जताई थी कि अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा तथा अन्य भारत विरोधी ताकतें कभी नहीं चाहेंगी कि भारत अन्तरिक्ष में एक मजबूत ताकत बने, इसके लिए ये इसरो के वैज्ञानिकों को निशाना बना सकते हैं.

जब सुदर्शन की तरफ से वैज्ञानिकों को लेकर ये चेतावनी जारी की गई तो कईयों ने इसका मजाक उड़ाया था. लेकिन सुदर्शन की ये चेतावनी अनायास ही नहीं थी. पूर्व में भी इसरो के कई वैज्ञानिकों की हत्याएं हो चुकी हैं. इसके अलावा अमेरिकी अन्तरिक्ष एजेंसी नासा की इसरो को लेकर कुढ़न कितनी है, वो सभी जानते हैं. कई बार नासा भारतीय अन्तरिक्ष एजेंसी इसरो को लेकर अपनी नकारात्मक सोच जाहिर कर चुका है. चूँकि नासा जानता है कि आने वाले समय में इसरो के माध्यम से भारत अन्तरिक्ष का सरताज बनेगा, इसी डर से नासा इसरो के खिलाफ साजिशें रचता है, इसके कई प्रमाण पूर्व में मिल चुके हैं.

जानकारी के मुताबिक़, एस. सुरेश भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के नेशनल रिमोट सेंसिंग सेंटर (एनआरएससी) से जुड़े हुए थे. मंगलवार को कार्यालय नहीं पहुंचने पर उनके साथियों ने उनके मोबाइल पर फोन किया लेकिन फोन पिक नहीं हुआ. उत्तर नहीं मिलने पर उन्होंने उनकी पत्नी इंदिरा को सूचना दी. उनकी पत्नी चेन्नई में बैंक कर्मचारी हैं. अपने परिवार के सदस्यों के साथ इंदिरा हैदराबाद पहुंचीं और उन्होंने पुलिस को सूचना दी.

पुलिस जब वैज्ञानिक के फ्लैट का दरवाजा तोड़ अन्दर पहुँची तो उनको मृत पाया गया. पुलिस को संदेह है कि उनके सिर पर किसी भारी चीज से हमला किया गया जिससे उनकी मौत हो गई. मौके से पुलिस ने सुराग जुटाए हैं तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने भी घटनास्थल का मुआयना किया है. पुलिस अधिकारियों ने कहा कि वे अपार्टमेंट परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज को देख रहे हैं. मूल रूप से केरल के रहने वाले वैज्ञानिक एस. सुरेश 20 साल से हैदराबाद में रह रहे थे.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share