Breaking News:

विदेशी पैसे से पल रहे मुल्ला मौलवियों के खिलाफ जांच की मांग… मांग करने वाला कोई हिन्दू नहीं

कुछ मुस्लिम धर्मगुरु विदेशों की आर्थिक मदद के बूते देश में राष्ट्रविरोधी गतिविधियां चला रहे हैं. देश के बाहर से फंडिंग लेने वाले मुल्ला-मौलवियों की जांच होनी चाहिए क्योंकि यही लोग देश की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा हैं. ऐसे मुल्ला मौलवियों की जांच हो तथा उन पर कड़ी से कड़ी कार्यवाई हो. ये बयान भारतीय जनता पार्टी  के किसी नेता का नहीं है और न ही ये बयान आरएसएस, विहिप, बजरंग दल या अन्य किसी हिन्दू संगठन के नेता का हैबल्कि ये बयान एक बेहद चर्चित मुस्लिम नेता सैय्यद वसीम रिज़वी का है.

उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन तथा कद्दावर मुस्लिम नेता सैय्यद वसीम रिजवी ने कहा है कि देश के बाहर से फंडिंग लेने वाले मुल्ला-मौलवियों की जांच होनी चाहिए. उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ मुस्लिम धर्मगुरु विदेशों की आर्थिक मदद के बूते देश में राष्ट्रविरोधी गतिविधियां चला रहे हैं.  फिल्म ‘राम जन्मभूमि’ के ट्रेलर रिलीज के अवसर पर वसीम रिज़वी ने प्रेस कांफ्रेसं के दौरान ये सारी बातें कहीं. वसीम रिज़वी ने कहा कि ये मुल्ला मौलवी देश के लिए ख़तरा हैं.

प्रेस कान्फ्रेंस में वसीम रिजवी ने कहा कि वह अयोध्या में राम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण के समर्थक हैं. यह उनका व्यक्तिगत विचार है. उन्होंने कहा कि बाबर के निर्देश पर मीरबाकी ने अयोध्या में खून-खराबा करके राम मंदिर को तोड़ा और एक मस्जिद रूपी इमारत बनवायी, जिसे शरई तौर पर मस्जिद नहीं माना जा सकता. कुछ गुमराह लोग उस विवादित ढांचे को लेकर हिन्दुस्तान का माहौल खराब कर रहे हैं. जिसकी वजह से देश में हिन्दू और मुसलमानों के बीच साम्प्रदायिक तनाव बढ़ रहा है. उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण होना ही चाहिये.

Share This Post