एक महिला ही खड़ी हुई करोड़ो महिलाओं के खिलाफ़… मायावती ने तीन तलाक़ मुद्दे पर और रुलाया पीड़िताओं को

तीन तलाक बिल पास होने के लिए मुस्लिम महिलाएं बेशबरी से बिल पास होने का इंतजार कर रही है । लेकिन विपक्षी दलों के सख्त रवैए के चलते राज्यसभा में

ये बिल पास नहीं हो पाया हैं। विपक्ष की बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने भी अब इस बिल को लेकर अपने विवादिता बयान देने शुरु कर

दिए है । माया ने इसे त्रुटियों और कमियों वाला बिल बताया हैं।

आपको बता दे कि माया ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सरकार के अड़ियल और अलोकतान्त्रिक रवैये के कारण अगर यह विधेयक वर्तमान स्वरुप में पारित

होकर कानून बन जाता है तो इससे मुस्लिम महिलायें दोहरे अत्याचार का शिकार होंगी तथा उनका हित होने के बजाय अहित ही होगा।

मायावती ने शुक्रवार को भेजे अपने बयान में कहा कि तीन तलाक पर प्रतिबन्ध से सम्बन्धित कानून बनाने पर बी.एस.पी. सहमत है, परन्तु वर्तमान विधेयक में

सज़ा आदि का जो प्रावधान किया गया है वह तलाकशुदा मुस्लिम महिलाओं के लिये और भी ज़्यादा बुरा होकर उनके लिये दिन-प्रतिदिन की और भी नई समस्यायें

पैदा करेगा जिससे उनका जीवन काफी ज्यादा मुश्किल हो जायेगा तथा वे शोषण का शिकार होंगी।

मोदी सरकार को इस प्रकार की कमियो पर खुले मन से विचार

करना चाहिये। उन्होंने कहा कि यही कारण है कि इस सम्बंध में बेहतर विचार-विमर्श के लिए इस विधेयक को राज्यसभा की प्रवर समिति को भेजने की माँग की

जा रही है।

 आगे माया ने कहा कि वैसे भी किसी भी कानून को बनाने से पहले जो गहन विचार-विमर्श व चर्चा एवं होमवर्क होनी चाहिये वह इस सरकार ने नहीं किया

जबकि इस तीन तलाक से सम्बन्धित विधेयक में इसके महत्व व व्यापक प्रभाव को देखते हुये यह बहुत ही जरुरी था।

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने इस मामले

में इतनी जल्दबाजी की है कि विपक्षी पार्टियां से थोड़ा सलाह-मशविरा करना भी गवारा नहीं किया। यह इनकी चूक नहीं थी बल्कि इनकी नीयत में खोट को दर्शाता

है।
मायावती ने विवादिता बयान देते हुए कहा कि वास्तव में मोदी सरकार अपनी मनमानी करने की आदी हो गयी है। चाहे नोटबन्दी का अपरिपक्व फैसला हो या

काफी जल्दबाजी में जी.एस.टी. कर का लाया नये कानून का अत्यन्त कष्टदायी निर्णय या फिर अब तीन तलाक का महत्वपूर्ण मामला हो, मोदी सरकार द्वारा घोर

मनमानी के साथ-साथ इनके अड़ियल रवैये अपनाने के कारण हर नई व्यवस्था देश की जनता के लिए जान का जंजाल ही साबित हुई है।

Share This Post