“अल्लाह हु अकबर” बोल कर एक और गद्दार शौकत ने उठा ली बंदूक भारत के खिलाफ. नेताओं ने फिर कहा – “आतंक का कोई धर्म नहीं”

एक बार फिर से धोखा किया गया है उस राष्ट्र के खिलाफ जिसने उन्हें दी है हर सुविधा . भारत की हवा में सांस ली , भारत का अन्न खाया और भारत के ही संविधान से हर वो सुविधा ली जो इसको मिली थी लेकिन आखिरकार उसने भारत के ही खिलाफ उठा ली बन्दूक और कर दिया एलान ए जंग भारत के खिलाफ . इधर जब राजनेता चीख चीख कर कह रहे थे कि आंतक का कोई धर्म नहीं होता तब ठीक दूसरी तरफ जहूर ने खोल रखा था मोर्चा भारत के खिलाफ और कर रहा था तैयारी एक बड़ी गद्दारी की . सवाल उठता है कि कमी कहाँ है , नेताओं के भाषण में या किसी और जगह पर जो किसी डर के चलते बोली नहीं जा रही है ?

ज्ञात हो कि भारत से गद्दारी कर के नये बने आतंकी का नाम है शौकत अहमद डार जिसके अब्बा का नाम है नाजिम अहमद डार . ये गद्दार कश्मीर के दक्षिणी हिस्से पुलवामा का रहने वाला है जो पिछले कुछ समय से ये गायब चल रहा था जिसके बाद इसके घर वाले इसको तलाश रहे थे . अब इसका फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमे ये प्रतिबंधित हथियार उठा कर खुद के आंतकी बन जाने की पुष्टि स्वय कर रहा है ..
बताया जा रहा है कि इस आतंकी ने अपनी कट्टर मजहबी भावनाओ को आगे करते हुए अंतिम सांस तक भारत और उसकी फ़ौज के साथ जंग लड़ने की कसम ली है . इसके आतंकी दल हिजबुल मुजाहिद्दीन में जाने की आशंका जताई जा रही है . बाकी आतंकियों ने इस ने भर्ती हुए आतंकी को बादशाह खान का नाम दिया है . फिलहाल शौकत अहमद डार के घर वालों का रटा रटाया बयान आया है कि उन्हें तो पता ही नहीं था कि उनका बेटा आतंकी है . इस तस्वीर के वायरल होने के बाद सुरक्षा बलों ने उसकी तलाश शुरू कर दी है लेकिन शौकत देश में एक बहस जरूर छोड़ गया है कि आखिर वो क्या है जो इन्हें आतंक की राह पर चलने को मजबूर कर रहा है . 

Share This Post