एक एक कर के खोज कर मार डाले जा रहे देशभक्त मुस्लिम पुलिसकर्मी.. औरंगजेब के बाद अब पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार का कत्ल

आतंक का कोई धर्म नहीं होता कहने वाले नेताओं को अब सीधी सीधी चुनौती मिल रही है उन दुर्दांत आतंकियों द्वारा जो उनके ही दिए गए मनोबल से खेल रहे हैं खून की होली . अभी हाल में ही लेफ्टिनेंट उमर फयाज के खून की होली खेलने के बाद जांबाज़ सिपाही औरंगज़ेब को मारा गया और अब फिर से वैसे ही हरकत की गयी जिसमे एक और जांबाज़ सिपाही को इस्लामिक आतंकियों ने मार डाला ..

प्राप्त जानकारी के अनुसार हिजुबल के नकाबपोश आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के शोपियां क्षेत्र के वेहील कचडूरा क्षेत्र में जम्मू कश्मीर पुलिस के एक सिपाही को तब अपहरण कर लिया जब वो अपनी माता के लिए दवा आदि लेने जा रहा था . कायरता का आलम ये है की एक बीमार मां को ढाल बनाया गया इस मामले में .. अपहृत सिपाही का नाम जावेद अहमद डार था जो कश्मीर पुलिस के जांबाज़ कमांडो में से एक था . 

अब उसी पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार की लाश बरामद हुई है ..जिसका शव अपहरण स्थल से काफी दूर कुलगाम से बरामद हुआ है . ये अपहरण वृहस्पतिवार की रात को किया गया था जिसके बाद पुलिस और सेना ने तमाम प्रयास किये थे इन्हे बचाने एक लिए लेकिन वो असफल साबित हुए . जावेद के कत्ल के बाद एक बार फिर से घाटी में सनसनी फ़ैल गयी है .. कत्ल से पहले उनका विधिवत वीडियो आदि बनाया गया जिसमे उनके कपड़े निकले गए थे और उन्हें बुरी तरह से आतंकियों द्वारा टार्चर किया जा रहा था . फिलहाल इस मामले में अब तथाकथित बुद्धिजीवी और मानवाधिकार वाले खामोश हैं . 

Share This Post