आतंकी को जेल के बदले VIP अस्पताल में करवाया जा रहा था इलाज़..कत्ल हुए हमारे 2 और जवान व ले गए उसे छुड़ा कर…जिम्मेदार है ये सत्ता

जहा जेल में कैंसर पीड़ित साध्वी प्रज्ञा चीख चीख कर मांगती थी इलाज़ फिर भी उन पर नही दिया जाता था ध्यान वहीं आतंकी को जेल के बजाय शानदार अस्पताल में रख कर उसकी खातिरदारी और एक प्रकार से कहा जाय कि मेहमाननवाजी की जा रही थी जिसके चलते एक बार फिर से बलिदान हुआ है एक पुलिस का जवान और आतंकी निकल भाग अपने साथियों के साथ ..

प्राप्त जानकारी के अनुसार तुष्टीकरण की नीति पर पर पूरी तरह से बिछ गई जम्मू कश्मीर सरकार की तुष्टिकरण की बलि कश्मीर पुलिस का के दो जवान चढ़ गए..लश्कर ए तैयबा के दुर्दान्त आतंकी नावीद को जहां जेल में रखना था वही उसको VVIP SMHS अस्पताल में रख कर एक प्रकार से खातिरदारी करवाई जा रही थी कि अचानक वहां उसके साथी आतंकियोंका हमला हो गया ..

उस अचानक हुए हमले से मोर्चा लेते हुए वहां तैनात 2 कश्मीर पुलिस के जवान बलिदान हो गए और इस भगदड़ का फायदा उठा कर आतंकी उस हत्यारे आतंकी नावीद को अपने साथ छुड़वा कर ले गए ..जिस प्रकार से हमला हुआ उस से साफ जाहिर है की इसमे आतंकियों को पक्की सूचना थी पुलिस की पूरी मूवमेंट की … वीरगति पाए दोनो जवानों को सरकारी सम्मान के साथ उनके परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया जहां उनका रो रो कर बुरा हाल है .. कुल मिला कर इसको सत्ता की लाचारी ही बोला जाएगा क्योंकि तुष्टिकरण की नीति जहां पत्थरबाज़ों के मुकदमे वापस लेती है वहीं जेल के बाहर अस्पतालों में आतंकियों का इलाज करवाती है …

फरार लश्कर आतंकी नावीद –


 

Share This Post

Leave a Reply