छिपे आतंकियों को पकड़ने के लिए सेना ने शुरू किया सर्च ऑपरेशन

जम्मू कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में नियंत्रण सीमा के पास आतंकवादियों की छानबीन के लिए रविवार की सुबह तलाशी अभियान शुरू किया गया। जानकारी के मुताबिक यह पता चला है कि भारत की सेना ने सूरज की पहली रोशनी के साथ तलाशी अभियान शुरू किया है। इस तलाशी अभियान में राज्य की सेना भी इनके साथ शामिल थी। शनिवार शाम आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ के बाद सुरक्षाबलों ने ये तलाशी अभियान शुरू किया है।

बता दें कि सेना और आतंकियों के साथ हुई मुठभेड़ में दो आतंकी मारे गए थे और दो जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। बता दें कि शनिवार को जवानों ने नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर की तरफ से आतंकवादियों के एक ग्रुप को घुसपैठ की कोशिश करते हुए देखा था। भारत के जवानो ने उन आतंकवादियों से आत्मसमपर्ण करने के लिए कहा। लेकिन आतंकवादियों ने भारतीय सेना के जवानो पर अंधाधुंध गोलियां चलानी शुरू कर दी।

कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि आतंकवादियो की इस हरकत पर जवानों ने भी जोरदार जवाब दिया जिसमें दो आतंकी मरे गए और इसी दौरान दो जवान भी बलिदान हो गए। कर्नल ने कहा की अधिक सुरक्षा के लिए आसपास के सभी इलाको में सुरक्षा बलों को मुठभेड़ स्थल पर भेजा गया है। इसके साथ ही वहां के पूरे इलाके को भी सील कर दिया गया हैं। आपको बता दे कि उत्तरी कश्मीर में घुसपैठ की यह वारदात तब हुई जब एक दिन पूर्व वह रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने नियंत्रण रेखा का दौरा किया था।

Share This Post