भारतीय वायुसेना का पूर्व सदस्य गौस मुहम्मद खान निकला ISIS का संचालक, भारत को ही कर देना चाहता था तबाह

क्या इस से भी बढ़ कर कोई चौंकाने वाली प्रत्याशित खबर कोई और होगी कि जिस व्यकित को कभी भारतीय फ़ौज एक राष्ट्रप्रेमी समझ कर वर्दी दी थी वही निकलेगा दुनिया के सबसे दुर्दान्त आतंकी संगठन ISIS का नियमित सदस्य?

जब एक तरफ उत्तर प्रदेश की ATS लखनऊ में छिपे आतंकी के सफाये में व्यस्त थी ठीक उसी समय तेलंगाना पुलिस भी अपने सर्विलांस के जरिये तमाम मैसेज, फोन कॉल पर नजर रख रही थी, उस पूरी सर्विलांस रिपोर्ट के अनुसार पिछले कुछ समय में पकडे गए या मारे गए ISIS खोरासन के सदस्य इसी गौस मोहम्मद को अपना आका मानते थे।

उत्तर प्रदेश ATS और STF ने व्रह्स्पतिवार को मास्टरमाइंड गौस मोहम्मद खान और आतंकी मोहम्मद अजहर को दबोच लिया। खुफिया एजेंसियां दोनों से गहन पूछताछ कर रही हैं। गौस मोहम्मद खान साल 1978 में भारतीय वायुसेना में भर्ती हुआ था और 1993 में कारपोरल के पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी।

वह एक छद्म नाम करण खत्री के नाम से भी अक्सर खुद को प्रस्तुत करता था। ADG – (लॉ & आर्डर ) दलजीत चौधरी के अनुसार गौस मोहम्मद खान को लखनऊ और उसके साथी आतंकी अजहर को कानपुर से पकड़ा गया है। ब्रेनवाश करने की कला में बेहद माहिर गौस मोहम्मद खान इतना शातिर था कि उसने आतिफ मुजफ्फर को इस प्रकार प्रेरित किया था कि उसने अपनी जमीन बेचकर ISIS आतंक को बढ़ाने के लिए 22 लाख रूपये लगा दिए थे।

इस प्रकार की घटनाएं भारत के लिए एक बहुत बड़ा सबक है, सुरक्षा एजेंसियों व् जनता दोनों के लिए। कृपया सावधान रहें।

Share This Post