कांग्रेस की छात्र शाखा का सदस्य निकला लश्कर का दुर्दांत आतंकी.. वो भी कश्मीर में नहीं, बिहार का

जहाँ एक तरफ राहुल गाँधी हर वो प्रयास कर रहे हैं जिस से उन्हें कोई कट्टर हिन्दू मान ले , लेकिन वहीँ दूसरी तरफ उनकी पार्टी से ऐसे ऐसे उदाहरण सामने आ रहे हैं जो उनके ही नहीं बल्कि उनके पूरे दल को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं . भारत की राजनैतिक शाखा में तब बुरी तरफ से हलचल मच गयी जब आतंकियों का काल बन चुकी नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने बिहार के गोपालगंज से लश्कर-ए-तैयबा के संदिग्ध एजेंट को तब गिरफ्तार किया जब वो किसी बड़े अपराध की ताक में बैठा था . जांच एजेंसी ने रविवार को कहा कि, आरोपी बेदार बख्त उर्फ धन्नु राजा के लश्कर आतंकी अब्दुल नईम शेख से लिंक थे।

उसने कई बार नईम को शरण दी और जरूरी सामान मुहैया कराया। नईम को पिछले साल लखनऊ से पकड़ा था। उसी से बेदार के बारे में जानकारी मिली। उधर, बिहार पुलिस के अनुसार, आरोपी बेदार ने खुद को कांग्रेस की विद्यार्थी शाखा (NSUI) का सदस्य बताया है। लश्कर एजेंट को पकड़ने के लिए एनआईए टीम ३ दिन तक शहर में डेरा डाले रही थी।
एजेंट बेदार पर क्या है आरोप ?  न्यूज एजेंसी के अनुसार, एनआईए ने कहा कि बेदार ने लश्कर के आतंकी नईम शेख को शरण दी थी। इसके अलावा वह नईम को जरूरी सामानों की आपूर्ति भी करता था। 

NSUI का नेता था संदिग्ध आतंकी
.. सूत्रों के अनुसार, एनआईए ने शुक्रवार रात स्थानिय पुलिस की मदद से छापेमारी की। बेदार को उसके मामा के घर से गिरफ्तार किया। वह सारण जिले का रहने वाला है और कुछ सालों से यहीं रहकर पढ़ाई कर रहा था।  आरोपी बेदार ने खुद को गोपालगंज की स्टूडेंट यूनियन में कांग्रेस का नेता बताया है। साथ ही कहा है कि वह पिछले ५ साल से राजनीति में सक्रिय था। आशा की जा रही है की अभी पूछताछ में ये अपराधी कई ऐसे और सफेदपोशों के नाम कबूलेगा जो भारत के अंदर ही राजनीति का लबादा ओढ़ कर भारत के ही खिलाफ साजिश रच रहे हैं . 

Share This Post

Leave a Reply