महादेव के भक्तों को मारा था उन्होंने, आखिर कैसे बच जाते जिन्दा ? सेना के शौर्य से हर तरफ “हर हर महादेव”

महादेव के भक्तों को मार कर निकल जाते , ऐसे कैसे सम्भव था … जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के काजीगुंड क्षेत्र में सोमवार को आतंकियों ने सेना के काफिले पर हमला कर दिया। दोपहर बाद घात लगाए आतंकियों की अंधाधुंध फायरिंग में एक सैनिक हुतात्मा हो गया, जबकि एक अन्य घायल है। हमले के बाद भागे आतंकियों को घेरकर सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया।

जम्मू एवं कश्मीर के पुलिस महानिदेशक वैद्य ने ट्वीट कर कहा कि, ‘पहले अबू इस्माइल और अब ये तीन अबू माविया, फुरकान और यावर ग्रुप के साथ ही अमरनाथ यात्रियों पर हमला करने वाले सभी आतंकी खत्म हो गए हैं।’

वैद्य ने ट्वीट कर कहा, ‘हमने तीसरे आतंकी की भी बॉडी को एनकाउंटर साइट से रिकवर कर लिया है, और चौथे आतंकी को घायल अवस्था में जिंदा पकड़ा गया है।’

बता दें कि, आतंकी संगठन लश्कर ने हमले की जिम्मेदारी लेते हुए दावा किया है कि, उसके बशीर लश्करी हुतात्मा स्क्वायड ने हमले को अंजाम दिया है, जिसमें सेना के चार सैनिक मारे गए और कई घायल हैं। काजीगुंड के बोनिगाम इलाके में आतंकियों ने सेना के काफिले पर फायरिंग करने के बाद मौके से भागकर पास की एक बिल्डिंग में पनाह ले ली थी।

इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया। घेरा सख्त होता देख आतंकियों ने सैनिकों पर फायरिंग की। इसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। सेना के इस कार्य के बाद उन तमाम हुतात्मा शिवभक्तों की आत्मा को जरूर शांति मिली होगी और इसी के चलते हर तरफ सेना के सम्मान में हर हर महादेव के नारे लगने शुरू हो गये हैं . 

Share This Post