गद्दार और नारी के नाम पर कलंक आसिया के लिए कराहते पाकिस्तान को भारत का सन्देश एक बहुत बड़ा ऐलान है आतंकियों के खिलाफ

हिंदुस्तान में रहकर, हिन्दुस्तान का खाकर हमेशा से हिंदुस्तान के खिलाफ काम करने वाली, पाकिस्तान के इशारों पर हिंदुस्तान को लहूलुहान करने के तमाम नापाक प्रयास करने वाली गद्दार कश्मीरी महिला आसिया अंद्राबी की गर्दन को पहली बार NIA ने दबोच लिया है. आसिया आंद्राबी की गिरफ्तारी की बाद पाकिस्तान बौखला गया है तथा आसिया अंद्राबी की गिरफ्तारी के बाद पाकिस्तान चीख उठा है तथा कह रहा है कि भारत कश्मीरी लोगों का दमन कर रहा है तथा यूएन की रिपोर्ट भी यही बोल रही है.

कश्मीर में मानवाधिकारों के कथित हनन को लेकर पाकिस्तान की टिप्पणी पर जवाब देते हुए भारत ने कहा है कि पहले पाकिस्तान को अपनी धरती पर पनप रहा आतंकवाद रोकना चाहिए. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का आरोप लगाया है. पाकिस्तान ने महिला अलगाववादी नेता सईदा आशिया अन्द्राबी को तिहाड़ जेल भेजे जाने और हुर्रियत नेताओं शब्बीर अहमद शाह और मसर्रत आलम भट को हिरासत में लिये जाने पर भी चिंता जतायी थी. भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने एक सवाल के जवाब में कहा , कभी – कभी वह भूल जाते हैं कि वह जो उपदेश देते है, उसका स्वयं पालन नहीं करते. हमने बार – बार उनसे कहा है कि आतंकवाद का समर्थन करना बंद करो , पाकिस्तान की धरती से गतिविधियां चलाने वाले आतंकवादियों का समर्थन करना बंद करो. इसपर उन्होंने कभी कोई कार्रवाई नहीं की. इसपर हमारा रूख स्पष्ट और अटल है.

मीडिया में आयी खबरों के अनुसार , पिछले महीने आयी संयुक्त राष्ट्र मानवधिकार आयोग की जिस रिपोर्ट में कश्मीर में मानवाधिकारों के उल्लंघन का दावा किया गया है , उसे तैयार करने के दौरान आयोग के प्रमुख लगातार पाकिस्तानी मूल के एक कनाडाई पत्रकार के संपर्क में थे. पत्रकार ने स्वयं यह दावा किया है. इस पर कुमार ने कहा , हम इस रिपोर्ट की मंशा पर भी सवाल उठा रहे हैं. इस दस्तावेज में अधिकारी का पूर्वाग्रह स्पष्ट नजर आ रहा है , जो बिना किसी जनादेश के काम कर रहे हैं और सूचनाओं के लिए अपुष्ट सूत्रों पर भरोसा कर रहे हैं. जो रिपोर्ट आयी है वह पूर्वाग्रहों से ग्रस्त है. यह स्पष्ट रूप से भेदभाव पूर्ण है. रवीश कुमार ने कहा कि आसिया अंद्राबी की गिरफ्तारी एक संकेत है कि देशविरोधियों को बख्शा नहीं जाएगा.

Share This Post