कल सरकार न गिरने से नाराज आतंकी निशाने पर ले चुका था मोदी को.. शाहजहांपुर रैली से ठीक पहले दिल्ली ATS ने दबोचा

मानसून सत्र शुरू होने के पहले ही दिन जिस तरह से विपक्षी दलों ने मोदी सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव दिया उससे कई मोदी विरोधियों को लगा कि जैसे मोदी सरकार गिर ही जाएगी. लेकिन कल रात्रि जब मोदी सरकार ने दो तिहाई बहुमत से विश्वासमत हासिल किया तो जहाँ पूरा देश खुशी से उछल पड़ा वहीं देशविरोधी तत्वों के कलेजे पर जैसे सांप रेंग किया. मोदी सरकार न गिरने से नाराज एक टंकी शाहबाज तो इतना नाराज हो गया कि शाहजहांपुर में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की रैली के दौरान उन्हें निशाना बनाने की साजिश रच डाली. लेकिंन जब तक वह अपनी नापाक साजिश को अंजाम दे पाटा उससे पहले ही  दिल्ली एटीएस ने बहेड़ी से आतंकी शाहबाज़ को गिरफ्तार कर लिया.

खबर के मुताबिक़, शहबाज दुबई में नौकरी करता था. आतंकी गतिविधियों में संलिप्त होने के कारण दिल्ली एटीएस ने उठाया. दिल्ली से लेकर लखनऊ तक इंटेलिजेंस एजेंसी पुलिस में खलबली मची हुई है. शाहजहांपुर में किसान कल्याण रैली के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री दोनों त्रिशूल एयरबेस से शाहजहांपुर के लिए वायुसेना हेलीकाप्टर से रवाना हुए थे. इस बीच दिल्ली एटीएस की टीम ने बहेड़ी से आतंकी शहबाज को उठा लिया. प्रधानमंत्री के बरेली में होने और बहेड़ी में आतंकी पकड़े जाने के बाद दिल्ली से लखनऊ तक हड़कंप मच गया. आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि आतंकी को एटीएस साथ ले गई, जहां उससे आतंकी कनेक्शन खंगाले जाएंगे. शहबाज कितने दिनों से आतंकियों के संपर्क में था, इसकी जानकारी सामने नहीं आई है. दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस टीम ने शुक्रवार सुबह बहेड़ी थाना क्षेत्र के तलपुरा गांव में छापा मारकर एक संदिग्ध युवक को हिरासत में लिया है.

बताया जा रहा है कि संदिग्ध युवक शहबाज शाहजहांपुर में पीएम मोदी की किसान महारैली में किसी बड़ी साजिश को अंजाम देने की फिराक में था. फिलहाल दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और यूपी एटीएस की टीम पूछताछ में जुटी है. सूत्रों के मुताबिक संदिग्ध युवक दुबई में नौकरी करता था. कुछ दिनों पहले ही यह युवक अपने गांव आया था. 30 साल के शहबाज की गतिविधियों पर यूपी एटीएस की टीम काफी दिनों से नजर रख रही थी.

Share This Post