Breaking News:

जब सिर्फ हमने कहा था कि आतंकी घटना है ट्रेन एक्सीडेंट तो कई थे असहमत….अब शत शत प्रतिशत सत्य साबित हुए हम

आतंकवादी हमलों पर बम ब्लास्टों पर भारतीय सेना के कड़े प्रतिकार के बाद अब देश में दहशत फैलाने के लिए आतंकियों ने, देशविरोधी ताकतों ने नया तरीका ईजाद कर लिया है. पिछले कुछ समय में लगातार ट्रेन दुर्घटनाएं हुई हैं जिसमें कई सैकड़ों लोगों की जानें गयीं हैं. ट्रैन दुर्घटनाएं भी इतने सिलसिलेवार तरीके से हो रही थी कि एक की गुत्थी सुलझ नहीं पाती थी तब तक दुसरी दुर्घटना घट जाती थी. उस समय सिर्फ सुदर्शन न्यूज़ ने सवाल उठाया था कि हो न हो ये ट्रेन दुर्घटनाएं सिर्फ एक एक्सीडेंट मात्र नहीं हैं बल्कि इनके पीछे आतंकवादी साजिश है, तथा देश में दहशत फैलाने के लिए आतंकवादियों ने रेल जिहाद का नया तरीका निकाला है जिसके बाद उस समय ज्यादातर लोगों ने हमारे इस दावे से असहमति जताई थी.

लेकिन अब सुदर्शन का का दावा सच साबित हो रहा है. उस समय जो सुदार्शन ने कहा था उसकी एक एक बात अक्षरशः सत्य साबित हो रही है. अभी कुछ दिन पहले मेरठ के पास ट्रेन की पटरियों पर जाल बिछाकर ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की नयी साजिश रची गयी थी लेकिन ट्रेन ड्राईवर की होशियारी तथा सूझबूझ के कारण एक बड़ा हादसा टल गया था वरना पता नहीं कितने लोगों की जानें जातीं.

अब इसी क्रम में मध्य प्रदेश में एक साजिश को अंजाम दिया गया है जिससे देश की सुरक्षा एजेंसिया भी आश्चर्यचकित हैं. खबर के मुताबिक, एमपी के कटनी और देवास रेलवे स्टेशन के बीच की पटरियों में से 1.6 किलोमीटर की पटरी चोरी कर ली गई है. इन पटरियों का वजन करीब 100 टन है. ये वजन 100 कॉम्पेक्ट सिडान कार के बराबर है. सबसे बड़ा सवाल ये है कि आखिर इतनी बड़ी ट्रेन की पटरी चोरी कैसे की गयी और इसको कहाँ खपाया गया.

सुरक्षा एजेंसियों की मानें तो एक बड़ी आतंकी साजिश के तहत ट्रेन की पटरी को चोरी किया गया है. अब आतंक नए तरीकों से देश का महल खराब करना चाहते हैं लोगों की जानें लेना चाहते हैं. आतंकी जब बम ब्लास्ट करते हैं अन्य तरीकों से हमले करते हैं तब शायद इतने लोग न मारे जाएँ लेकिन जब इस तरह से ट्रेन जिहाद करते हैं दुर्घटनाएं कराने में कामयाब हो जाते हैं तब बम ब्लास्ट आदि की अपेक्षा कई गुना ज्यादा लोगों की जान जाने की सम्भावना रहती है और यही कारण है कि आतंकी अब हिन्दुस्तान को लहू से लाल करने के लिए ट्रेन दुर्घटनाएं करा रहे है. और इसी साजिश के तहत मध्य प्रदेश में ट्रेन की पटरी चोरी की गयी है.

सुरक्षा एजेंसियों को आशंका है कि चोरी को अंजाम देने वाले गिरोह का सरगना शमीम कबाड़ी पाकिस्तान भाग गया है. ये भी माना जा रहा है कि शमीम ने किसी अन्य कबाड़ी को स्टील की पटरियां बेच दी हों. लेकिन सुरक्षा एजेंसियों का मानना है कि इन्हें बेचना व खरीदना भी आसान नहीं है और इसके बाद भी लगभग 2 किलोमीटर पटरी की चोरी की गयी व इसके मास्टर माइंड का पाकिस्तानी कनेक्शन सुरक्षा एजेंसियों को काफी परेशान कर रहा है तथा सुरक्षा एजेंसिया इसकी जांच कर रही हैं. शमीम कबाड़ी को पकड़ने के लिए इंटरपोल की मदद भी ली जा रही है.

Share This Post