Breaking News:

इधर भाजपा ने गिराई महबूबा सरकार तो उधर गरज उठी भारतीय सेना की बंदूकें.. 3 आतंकी पहुंचाए जहन्नुम

रमजान माह में एकतरफा सीजफायर की केंद्र सरकार की घोषणा के बाद जब पूरा देश इतना ज्यादा आक्रोशित था तो जरा सोचिए कि भारतीय सेना कितनी ज्यादा आक्रामक होगी. लेकिन दुनिया के सबसे अनुशासनप्रिय भारतीय सेना ने इस दौरान कई जवानों की शहादत के बाद भी सरकारी आदेश को माना लेकिन जैसे ही सीजफायर समाप्ति की घोषणा हुई, भारतीय सेना की बंदूकें गरज उठी तथा शुरू हो गया ऑपरेशन ऑलआउट. सीजफायर की समाप्ति की घोषणा के तुरंत बाद भारतीय सेना ने कश्मीर के बांदीपोरा सेक्टर में 4 इस्लामिक आतंकियों को मारकर सीजफायर के खात्मे का भव्य जश्न मनाया था. 

लेकिन आज जब राष्ट्र की आवाज को सुनते हुए भारतीय जनता पार्टी ने जैसे ही महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन लेने की घोषणा की तथा एलान किया कि उनके लिए राजनीति कभी राष्ट्रनीति से ऊपर नहीं हो सकती है तो उधर कश्मीर में एक बार फिर से आतंकियों की शामत आ गयी तथा भारतीय सेना आतंकियों पर काल बनकर टूट पड़ी तथा 3 आतंकियों को लाश में बदल दिया. खबर के मुुुताबिक, जम्मू-कश्मीर के त्राल में सुरक्षाबलों ने जैश ए मोहम्‍मद के तीन आतंकवादियों को मार गिराया. मारे गए आतंकियों में एक जैश ए मोहम्‍मद का त्राल कमांडर भी शामिल है. इससे पहले सुरक्षाबलों को तीन से चार आतंकी छिपे होने की खबर की खबर मिली थी जिसके बाद ऑपरेशन शुरू किया गया. इस सैन्य अभियान में सेना के तीन जवान और सीआरपीएफ के एक सिपाही के घायल होने की खबर है.

बताया गया है कि आज शाम को सेना की 47 आरआर (राष्ट्रीय राइफल्स) के जवानों का एक गश्तीदल विलगाम कुपवाड़ा के ऊपरी हिस्से में स्थित देडीकोट से गुजर रहा था. तभी वहां छिपे आतंकियों ने सेना की टोली पर हमला कर दिया. जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया.करीब 15 मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चलीं, उसके बाद आतंकी भाग निकले लेकिन जांबाज भारतीय सेना ने तीन आतंकियों को मार गिराया था साफ कर दिया कि भारतीय सेना अब आतंकियों का खात्मा करके ही दम लेगी.

Share This Post