Breaking News:

राजस्थान सीमा से पकड़े गये हैं अफगानी घुसपैठी. क्या खींच रही है तुष्टिकरण की राजनीति इन्हें भारत की तरफ ?

ये सतर्कता है और कड़ाई है जो सीमा पर ही पकडे जा रहे हैं वो तमाम जो भारत में यकीनन विकास करवाने और भारत की तरक्की के मकसद से नहीं घुस रहे थे . ये उनका दुस्साहस है जो उनको भारत की तरफ आने के लिए मजबूर करता है . कहीं न कहीं उन्हें भी तुष्टिकरण की वो आहाट मिल जाती होगी जिसके चलते कईयों ने धर्मनिरपेक्षता का नकली चोला ओढ़ कर आतंकियों का महिमा मंडन करना शुरू कर दिया है . 

पाकिस्तान से लगे सीमा क्षेत्र के प्रतिबंधित क्षेत्रों में घुसपैठ और अवां​छित गतिविधियों को रोकने लिए एजेंसिंया हाई अलर्ट पर रहती है। इसी का परिणाम है बीते कुछ माह में राजस्थान में पाक सीमा से क्षेत्रों में कई पाक व गैर पाक जासूस सुरक्षा एजेंसिंयों के हत्थे चढ़े है। इस बार जैसलमेर में सुरक्षा एजेंसिंयों ने दो अफगानी नागरिकों को पकड़ा है। ये दोनों प्रतिबंधित क्षेत्र में घूम रहे थे। जानकारी के अनुसार, इनके नाम नईम मुलाई व मोहम्मद परवेज है। प्रारंभिक पूछताछ के बाद इन दोनों को स्थानीय पुलिस के हवाले कर दिया गया है। इनकी गतिविधियों की सघन जांच चल रही है . 

हालांकि दोनों के पास वैध वीजा होने की जानकारी सामने आ रही है। परंतु प्रतिबंधित क्षेत्र में दोनों के प्रवेश ने सुरक्षा एजेंसिंयों को सतर्क कर दिया था। गौरतलब है सरहदी ईलाकों से लगे गांवों में भी सुरक्षा एजेंसिंयां समय-समय पर तलाशी अभियान चलाकर जासूसों की तलाश करती है। क्यों​कि इन क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के अधिकत सगे-सबंधी बॉर्डर पार भी रहते है। इन्हीं लोगों का उपयोग कर पाक एजेंसिंयां भारत में जासूसी को अंजाम देती है।

Share This Post