लश्कर के २ दुर्दांत आतंकियों की मौत के साथ जब कश्मीर में हुई दिन की शुरुआत तो पूरा देश बोल पड़ा ” जय हिन्द की सेना”

अपने आतंक विरोधी अभियान को पूरा करने में तन्मयता से लगी भारत की सेना को उस समय बड़ी सफलता मिली जब इस्लामिक आतंकी दल लश्कर ए तोइबा के २ दुर्दांत आतंकियों के छिपे होने की जानकारी मिलते ही सेना ने इलाके को घेर लिया और आतंकियों से समर्पण करने को कहा .. लेकिन मजहबी उन्माद में चूर वो दोनों आतंकी फ़ौज पर ही हमलावर हो गये जिसका प्रतिउत्तर फ़ौज ने अपने अंदाज़ में दिया .. यहाँ ध्यान देने योग्य ये है की इस मुठभेड़ में मारे गये दोनों आतंकी अशिक्षित नहीं थे और न ही किसी गरीब परिवार से .. ये दोनों आतंकी एक सवाल छोड़ कर गये हैं उनके लिए जो आतंक का कारण गरीबी और अशिक्षा बताते हैं .

ध्यान देने योग्य है कि नए पुलिस प्रमुख की नियुक्ति होने के बाद आतंक विरोधी अभियान में तेजी आई है . जम्मू एवं कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में मंगलवार को सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए। छिपे हुए आतंकवादियों की खुफिया जानकारी प्राप्त करने के बाद सुरक्षाबलों ने गालूरा गांव को घेर लिया। पुलिस सूत्रों ने कहा,’घेराबंदी मजबूत होने के साथ आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर गोलीबारी शुरू कर दी।’ बार बार चेतावनी देने के बाद भी जब आतंकी अपनी गोलीबारी से बाज़ नहीं आये तो सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्यवाही की जिसमे दोनों तत्काल मौत के घाट उतार दिए गये .

मारे गए आतंकवादियों की पहचान लैंगेट के रहने वाले फुरकान और सोपोर के लियाकत के रूप में हुई है। पुलिस ने कहा,’पीड़ितों के पास से हथियार और गोला बारूद बरामद किए गए हैं। इन दोनों आतंकियों के लश्कर ए तोइबा समूह से जुड़े होने की सूचना प्राप्त हुई है . इलाके में छुटपुट विरोध की हरकत की गयी जिसको सतर्क सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया .. आतंकियों के मारे जाने की खबर से देश के कई हिस्सों में सेना को ले कर सम्मान प्रकट किया जा रहा है और आशा जताई जा रही है कि जल्द ही सेना और अन्य सुरक्षा बल मिल कर कश्मीर घाटी को आतंकविहीन बनाते हुए वहां के मूल निवासी हिन्दुओं को फिर से वहां रहने लायक माहौल देंगे .

Share This Post

Leave a Reply