दुर्दांत भगोड़े आतंकी जाकिर नाईक के नाम पर चल रहा था स्कूल जहां भरा जा रहा था भारत के खिलाफ जहर

केरल सरकार ने कोच्चि के ‘पीस इंटरनेशनल विद्यालय’ को सांप्रदायिक पाठ पढाने के आरोप में बंद करने के आदेश दिए हैं। जिलाधिकारी और शिक्षा विभाग की रिपोर्ट के बाद यह कार्रवाई की गई है। यह विद्यालय अपने पाठ्यक्रम में आपत्तिजनक और गैर-धर्मनिरपेक्ष पाठ पढाने के लिए पहले से जांच के दायरे में थी। विद्यालय, जहां विद्यार्थी जाति, धर्म, ऊंच-नीच से परे अपने उज्जवल भविष्य की तैयारी करता है, वहीं यदि उसका भविष्य गर्त में ढकेला जाए, तो निश्चित ही यह भारत के भविष्य के लिए अत्यंत चिंताजनक है। केरल के कोच्ची शहर से ऐसा ही एक चिंतनीय समाचार सामने आया है।

कोच्ची के ‘पीस इंटरनेशनल विद्यालय’ पर आरोप है कि, वहां पढने वाले विद्यार्थियों को आपत्तिजनक सामग्री पढाकर इस्लाम के लिए जान देने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा था। प्राप्त जानकारी के अनुसार इस विद्यालय को ऐसा करने का आदेश देने वाला व्यक्ती विवादित धर्मगुरु जाकिर नाईक का परिचित है जो उस क्षेत्र का एक जाना माना उद्योगपती है। 

विद्यालय के खिलाफ एर्नाकुलम जिले के शिक्षा अधिकारी ने शिकायत दर्ज करवाई थी। उन्होंने विद्यालय की एक रिपोर्ट भी तैयार की थी जिसमें उन्होंने लिखा था कि विद्यालय में जो कुछ भी पढ़ाया जा रहा है वह धर्म निरपेक्षता के बिलकुल ख़िलाफ़ है। सूत्रों के अनुसार उस विद्यालय में विद्यार्थियों को इस्लाम के लिए जान तक देने जैसी शिक्षा दी जाति है। 
इस विषय में जानकारी मिलते ही पुलिस ने विद्यालय पर आईपीसी की धारा १५३ ए और ३४ लगाई है जिसके तहत विद्यालय के प्रिंसिपल, व्यवस्थापक और तीन ट्रस्टीज के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। यह विद्यालय एलकेजी से आठवीं तक के बच्चों को पढ़ाता है। कुछ लोगों को शक है कि जाकिर नाईक के कहने पर ही विद्यालय के पाठ्यक्रम में विवादित चीजें डाली गई थीं। बता दें कि, बांग्लादेश में आक्रमण करने वाले युवा लडकों के जाकिर नाईक से प्रेरित होने की बात पता चलने के बाद से जाकिर की मुश्किलें बढ़ गई हैं। तभी से उनका जमकर विरोध भी हो रहा है। बांग्लादेश में उनपर अब प्रतिबन्ध लगा दिया गया है। कनाडा, लंदन जैसे कई देशों में उनपर पहले ही प्रतिबन्ध है। इसके अतिरिक्त हाल ही में केरल से ६ संदिग्ध लोगों को आईएसआईएस से संबंध होने के शक़ में गिरफ्तार भी किया गया है।

Share This Post

Leave a Reply