राजस्थान सरकार ने हैरान किया कांग्रेस को….. नेहरू का नाम देशभक्तों की लिस्ट से हटाया


नेहरू की नीतियों का तो पूछो ही मत आज जो कुछ भी सीमाई विवाद है सब उन्ही की देन है। नेहरू की नीतिया हमेशा से भारत को छोटा दिखाने की रही है। उनकी चाटुकारिता जग जाहिर हैं। आपको बता दे की आज जो कश्मीर और चीन से जो सीमाई विवाद है सब इन्ही की देन है।

विदित हो की राजस्थान ने बड़ा फैसला लेते हुए नेहरू की कहानी ही किताबों से हटा दिया है। पहले किताबो में लिखा जाता था की नेहरू भारत के पहले प्रधानमंत्री थे और उनके बारे में लिखा गया की नेहरू ने आज़ादी की लड़ाई लड़ी।

पूरी दुनिया के सामने जाहिर है नेहरू किस तरह के व्यक्ति थे पर आज़ादी के बाद से ही किताबो में नेहरू की तारीफ लिख दी गयी जिस से पीढ़ी दर पढ़ी गुमहार हो रही थी। अब इस को बदल दिया है राजस्थान सरकार ने।
आपको बता दे की इस फैसले पर राष्ट्रवादियों के बीच जम कर तारीफ हो रही है वहीँ सेक्युलरपंथी इस फैसले से भड़क गए है। आपको बताते चले की राजस्थान सरकार ने महान लोगो की लिस्ट से अकबर का भी नाम हटा दिया है।

इसपर भी सेक्युलरपंथी बवाल मचा चुके है। राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग ने ऐतिहासिक फैसला लिया है। अब स्कूलों में नेहरू की नहीं पढाई जायेगी तारीफ। देशभक्तो की लिस्ट से नेहरू का नाम हटाया गया। राजस्थान के शिक्षा विभाग ने नयी पुस्तक छापी है इस पुष्तक में वीर सावारकर, नेताजी बोस, बाल गंगाधर तिलक, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद इत्यादि सभी देशभक्तो का नाम है पर जवाहर लाल नेहरू का नाम नहीं है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...