क़ुरान बाँटने से इंकार करने वाली हिन्दू लड़की के लिए अब आया फायरब्रांड सुब्रह्मण्यम स्वामी का ज्वलंत बयान..

जिस आदेश के बाद भारत में सेकुलर व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गये है उसी आदेश में एक के बाद एक बड़े नाम अपने एंगल से अपनी उपस्थिति दर्ज करवाते जा रहे हैं . ये मामला झारखंड के रांची का है जहाँ अदालत ने अभिव्यक्ति की कथित आज़ादी समझ कर सोशल मीडीया पर एक पोस्ट करने वाले लड़की को कुरआन बांटने का आदेश सुनाया था. इस फैसले के बाद पूरे देश में कोहराम मचा है और यहाँ तक कि न्यायाधीश महोदय मनीष सिंह का नाम भी ट्विटर की ट्रेंडिंग में रहा है .

अब उसी मामले में अपनी धमाकेदार उपस्थिति दर्ज करवाई है भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता सुब्रह्मण्यम स्वामी ने ..  भारतीय जनता पार्टी के कद्दावर नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ऋचा भारती के स्टैंड का समर्थन किया है। स्वामी ने कहा है, ‘मैं उम्मीद करता हूं कि ऋचा @Ish_Bhandari से संपर्क करेंगी। वह इस मुद्दे के लिए सबसे सही शख्स हैं और मैं अदालत में उनकी मदद करूंगा। कुरान बांटने का अर्थ है कि उन हिस्सों को स्वीकृति देना है जो काफिरों और उसके परिणामों की बात करते हैं. ऋचा सभी वास्तविक हिंदुओं के लिए लड़ रही हैं. हम दूसरे मजहब के ज्ञान को प्रसारित नहीं कर सकते.’

देखिये इस मामले में वो ट्विट –

Share This Post