कानपुर से अलीगढ तक संक्रमित. कई जिलों में ताबड़तोड़ छापे.तमाम हिरासत में . अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी जांच दायरे में

शायद ही इस भयावह स्थिति से सैफुल्लाह के समर्थकों को कोई फर्क पड़े पर मात्र वोट बैंक के लिए उत्तर प्रदेश की जनता को आतंक के मुह में धकेल देने के कुत्सित प्रयास पर से पर्दा उठता जा रहा है जो परदे के पीछे जो माहौल दिख रहा है वो बेहद भयावह है.

कानपुर पुलिस के साथ आतंक का जड़ से सफाया करने निकली NIA ताबड़तोड़ दबिश दिए जा रही है जिसमे उसे पानी वाले , बिरयानी वाले , होटल वाले सबको जांच के दायरे में ले कर चलना पड़ रहा है. गिरफ्तार आतंकी को बिठूर , कल्याणपुर , चकेरी इलाकों में घुमा कर तमाम जगह फोटोग्राफी की गयी और कुछ संदिग्धों को हिरासत में लिया गया. 

NIA के जांच दायरे में अब उन्नाव , अलीगढ, हमीरपुर, लखनऊ , कानपुर आदि जिले आ चुके हैं जहाँ जाँच दल की अलग अलग टीमें भेजी गयी हैं . NIA की जांच अलीगढ मुस्लिम विश्वविद्यालय पर भी केंद्रित है जहाँ गिरफ्तार आतंकी आतिफ डिप्लोमा कोर्स कर रहा था. NIA को शक है कि आतंकी आतिफ ने अपने कुछ सहपाठियों को भी आतंक के इस अवैध मार्ग की शिक्षा दी होगी और उन्हें भी अपनी तरफ बनाने की कोशिश की होगी . 


उन्नाव की एक मस्जिद में भी NIA की टीम के जाने की खबर है. अपुष्ट सूत्रों के अनुसार NIA टीम को इस केस के सम्बन्ध में किसी मौलवी की सरगर्मी से तलाश है जो जल्द ही NIA के शिकंजे में हो सकता है. इसी सिलसिले में घाटमपुर और मूसा नगर को भी NIA की टीम ने खंगालना शुरू कर दिया है जिस में उसे आपेक्षित सफलता मिल रही है. कानपुर में एक अधेड़ और एक युवक NIA के हत्थे चढ़ा है जिसे वो अपने साथ ले कर गयी . 

Share This Post