हिन्दू देवो के तीन हजार वर्ष प्रमाण व स्तूप मिले बिहार में… जनता दे रही नीतीश जी को धन्यवाद

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश की पुरातत्व में दिलचस्पी के चलते बिहार में 3000 साल पुराने स्तूप के अवशेष मिले हैं। ये अवशेष बिहार के शेखपुरा में मिले हैं। नीतीश कुमार ने यहां मिट्टी के पात्रों को देखकर इनके पुरात्विक महत्व के होने की बात कही थी। जिसके बाद पुरात्व विभाग ने इसकी जांच की तो सामने आया कि ये करीब 3000 साल पुराने स्तूप के हैं। जो अवशेष मिले हैं, इनमें मिट्टी के बर्तन वगैरह हैं।

भगवान विष्णु और देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां मिलीं के पी जायसवाल अनुसंधान संस्थान के कार्यकारी निदेशक बिजॉय कुमार चौधरी ने रविवार को इस जगह का दौरा किया। उन्होंने कहा कि हमने कल उस जगह का दौरा किया, जहां कई अवशेषों को देखकर हम काफी रोमांचित हुए। ये अवशेष उनके पुरातन होने का संकेत देते हैं। पुरातत्वविदों की टीम को वहां बुद्ध, भगवान विष्णु और कुछ देवी-देवताओं की खंडित मूर्तियां मिली हैं।

चौधरी ने बताया है कि काले और लाल रंग में वस्तुओं के अवशेष 3000 साल पुराने हैं। नक्काशीदार कलाकृति वाली वस्तुएं नवपाषाण काल की भी हो सकती हैं। उन्होंने बताया कि मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह से फोन पर जानकारी मिलने के बाद पुरातत्वविदों का एक दल शुरुआती खोज के लिए अरियारी खंड स्थित फारपर गांव रवाना हुआ और जांच की। चौधरी ने कहा कि अब हमारी योजना यहां अपनी खोज को आगे ले जाने की है क्योंकि हमें यहांऔर भी प्राचीन कलाकृतियां मिलने की उम्मीद है।

चौधरी ने कहा कि इससे पहले भी जब हमारा संस्थान राज्यव्यापी खोज चला रहा था तब भी इस गांव में कुछ खंडित मूर्तियां मिली थीं लेकिन इस स्तूप पर टीम की निगाह नहीं गई थी, अब जबकि सीएम के देखने के बाद इस पर खोज हो रही है तो हम इसे आगे बढ़ाएंगे।

Share This Post

Leave a Reply