Breaking News:

कांग्रेस नेता का एक और शर्मनाक बयान, जिससे साफ जाहिर होता हैं कि कांग्रेस नेता गद्दारी के तावे पर रोटी सेकते हैं

नई दिल्ली  : कांग्रेस नेताओं का भारतविरोधी बयान अक्सर सामने आता रहता है। इस बार भी कांग्रेस नेता ने भारत के वीर जवानों के विरूद्ध बयान दिया है। कांग्रेस नेता महासचिव दिग्विजय सिंह ने कश्मीर के मौजूदा विवाद के बीच एक शर्मनाक बयान दिया हैं। उन्होंने कहा कि कश्मीर में रहने वाले लोगों को एक ओर आतंकवादी मारते हैं तो दूसरी तरफ भारतीय सेना के जवान। 
दिग्विजय सिंह के इस विवादी बयान के बाद एक सवाल उठता हैं कि दिग्विजय सिंह भारतीय सेना पर ऐसा इल्जाम लगाकर साबित क्या करना चाहते है। सेना पर इल्जाम लगाते हुए दिग्विजय सिंह ने उस वीडियो को भी नाकार दिया जिस वीडियो में एक सीआरपीएफ जवान को कश्मीरी वामपंथी सरेआम पीट रहे है। जवान को जिस समय पीटा जा रहा था उस वक्त जवान के पास हथियार था मगर उसने हथियार के इस्तेमाल के बजाय वामपंथीओं की बदसलूकी को बर्दाश्त करना पसंद किया और दिग्विजय उल्टे कदम चल रहे है। 
अगर ये बयान देते समय दिग्विजय के सामने सेना की जीप पर बंधे उस कश्मीरी की तस्वीर थी तो उन्हे पता होना चाहिए कि वहां भी सेना ने पत्थरबाजों से अपनी रक्षा के लिए उस पत्थरबाज को जीप के आगे बांधा था और बाद में उसे सुरक्षित छोड़ भी दिया था। दिग्विजय सिंह ने जवानों पर ऐसा बयान तो दे दियो है लेकिन दिग्विजय ने एक बार भी उन पत्थरबाजों के बारे में जिक्र नहीं किया जो भारतीय जवानों पर पत्थर मारतें है और देशद्रोही के नारे लगाते है। प्रधानमंत्री की कश्मीर की नीतियों पर निशाना साधते हुए दिग्विजय ने पाकिस्तान से युद्ध की आशंका जताई है मगर वो ये भूल गए कि कश्मीर में आतंकवाद और अलगाववाद के पीछे असली हाथ पाकिस्तान का ही हैं।
Share This Post