तिहाड़ के लिये रवाना किये गये चिदम्बरम.. वहीँ, जहाँ बंद है छोटा राजन

भारत के सबसे बड़े माफिया और कभी भारत की सबसे कद्दावर राजनैतिक हस्ती रही अब एक साथ एक जगह पर कैद होंगी.. पी चिदंबरम को आख़िरकार न्यायिक हिरासत में जेल रवाना कर दिया गया है . ये उनके लिए किसी दुस्वप्न से कम नहीं है क्योकि कभी भारत के गृहमंत्री रहने पर उन्होंने जिस प्रकार से अपनी ताकत का बेवजह इस्तेमाल कर के कभी साधू संतो तो कभी सेना के अधिकारियो को फंसाया था वो कोई भूल नहीं सकता है . फिलहाल अब चिदंबरम का नया ठिकाना होगा तिहाड़ जेल..

चिदंबरम को जेल भेजे जाने के बाद आम जनता में भी एक संदेश गया है कि कानून सबके लिए बराबर होता है और अब वो कहावत सही नहीं है कि नियम सिर्फ कमजोरों और गरीबो के लिए ही बने हैं . दिल्ली की राउज एवन्यू कोर्ट ने आईएनएक्स मीडिया केस में पूर्व गृहमंत्री पी. चिदंबरम को 19 सितंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।न्यायमूर्ति आर भानुमति और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ ने अपने आदेश में कहा कि यह अग्रिम जमानत देने के लिये उचित मामला नहीं है.

इस मामले में जजों की पीठ ने कहा कि इस समय चिदंबरम को अग्रिम जमानत देने से जांच प्रभावित हो सकती है. शीर्ष अदालत ने चिदंबरम की वह अर्जी भी खारिज कर दी जिसमे यह अनुरोध किया गया था कि तीन तारीखों पर उनसे की गयी पूछताछ की लिपि पेश करने का प्रवर्तन निदेशालय को निर्देश दिया जाये. हालांकि, शीर्ष अदालत ने कहा कि चिदंबरम नियमित जमानत के लिये संबंधित अदालत में याचिका दायर कर सकते हैं.

Share This Post