यूपी में सरकार बनने के बाद पहली बार पीएम ने की ‘मन की बात’, बांग्लादेश को आजादी की दी शुभकामनाएं

नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 30वीं बार ‘मन की बात’ कार्यक्रम में देश को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि देशवासी अगर संकप्ल के साथ कोई काम करते हैं तो हमारा न्यू इंडिया का सपना पूरा होगा। उनहोंने कहा कि अगर देश के सवा सौ करोड़ देशवासी सप्ताह में एक दिन अगर पेट्रोल और डीजल का प्रयोग नहीं करने का संकल्प लेते हैं तो कितने लाभ होगा। एक तो ऊर्जा की बचत होगी और दूसरा पर्यावरण की सुरक्षा भी होगी।

प्रधानमंत्री ने इसके साथ ही अमर शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को भी श्रद्धांजलि दी। पीएम मोदी ने कहा कि इन तीनों युवकों से ब्रिटिश सरकार डरती थी। ये सेनानी देश के लिए जिए और देश के लिए अपने प्राण न्यौवर कर दिए। पीएम मोदी ने साथ ही कहा देश के युवाओं से अनुरोध है जब भी समय मिले भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की समाधि पर जरूर जाएं।

पीएम मोदी के मन की बात की कुछ खास बातें-

आज 26 मार्च है और आज का दिन बांग्लादेश का स्वतंत्रता दिवस है। कामना है कि बांग्लादेश आगे बढ़े और विकास करे।

बांग्लादेश भारत का अभिन्न मित्र है। टैगोर हमारी साझी विरासत हैं। गुरुदेव टैगोर ने ही बांग्लादेश का भी राष्ट्रगान लिखा।

अमर शहीद भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु इन तीनों युवकों से ब्रिटिश सरकार डरती थी। ये सेनानी देश के लिए जिए और देश के लिए अपने प्राण न्यौवर कर दिए। मोदी ने देश के युवाओं से अनुरोध किया कि जब भी समय मिले भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु की समाधि पर जरूर जाएं।

14 अप्रैल को डॉ. बाबा साहेब अम्बेडकर की जन्म-जयंती है और उनकी जन्म-जयंती पर डिजि-मेला का समापन होने वाला है।

ब्लैक मनी के खिलाफ लड़ाई आगे बढ़ाने के लिए देशवासी एक वर्ष में 2500 करोड़ डिजिटल लेन-देन करने का संकल्प कर सकते हैं क्या? ढेड़ करोड़ लोगों ने भीम एप डाउनलोड किया और 70,000 लोगों ने व्यापारियों वाला पुरस्कार प्राप्त किया।

मोदी ने गांधी के चंपारण सत्याग्रह को भी याद करते हुए कहा कि हम चंपारण सत्याग्रह के 100वीं सालगिरह मना रहे हैं। गांधी 1915 में भारत लौटे थे और 1917 में सत्याग्रह करने बिहार के एक छोटे से इलाके में चले गए।

पीएम मोदी ने कहा कि चंपारण सत्याग्रह गांधी के अद्भुत शक्ति का दर्शन कराता है। इस आंदोलन के जरिए गरीब से गरीब और अनपढ़ से अनपढ़ व्यक्ति भी अंग्रेज सल्तनत के खिलाफ उनके संघर्ष से जुड़ा।

पीएम मोदी ने कहा कि सभी 125 करोड़ भारतीय न्यू इंडिया बनाने में अपनी पूरी क्षमता से जुड़े हैं। आज सभी देशवासियों के मन में आशा और उमंग और यही लोग भव्य और दिव्य भारत बनाएंगे।

न्यू इंडिया कोई राजनीतिक एजेंडा नहीं है। पिछले कुछ महीनों से डिजिटल पमेंट का आंदोलन शुरू हुआ है। खासकर नोटबंदी के बाद से। भीम एप का जिक्र करते हुए कहा कि इस एप के लॉन्च होने के करीब दो या ढाई महीने हो चुके हैं और इस दौरान करीब डेढ़ करोड़ लोगों ने इस एप को डाउनलोड किया है।

दुनिया में 35 करोड़ लोग अवसाद के शिकार हैं, हमें इसको लेकर बात करनी चाहिए। वैसे योग भी अपने मन को स्वस्थ रखने के लिये एक अच्छा मार्ग है। तनाव, दबाव से मुक्ति, प्रसन्न चित्त की ओर प्रयाण – योग बहुत मदद करता है।

मोदी ने कहा कि सेवा-भाव से लोगों की मदद करिए, उनके सुख-दुःख को बांटिए, आप देखना, आपके भीतर का दर्द यूं ही मिटता चला जाएगा।

ऐसा नहीं है कि डिप्रेशन से मुक्ति नहीं मिल सकती, एक मनोवैज्ञानिक माहौल पैदा करना होता है जिससे इसकी शुरुआत होती है। डिप्रेशन में सप्रेशन की जगह एक्र्सप्रेशन जरूरी है।

7 अप्रैल को विश्व स्वास्थ्य दिवस है, वर्ल्ड हेल्थ डे पर इस बार संयुक्त राष्ट्र ने विश्व स्वास्थ्यदिवस पर डिप्रेशन विषय पर फोकस किया है।

मोदी ने कहा कि लोग खाना बरबाद न करें, थाली में जूठन न छोड़ें। मैं इस विषय पर ज़्यादा आग्रह नहीं कर रहा हूँ, लेकिन मैं चाहूँगा कि ये जागरूकता बढ़नी चाहिए। हम उतना ही लें, जितना खाना है। हम प्लेट में उतना ही खाना लें जितना खा सकें, खाना बरबादद ना करें।

मेरे प्यारे देशवासियो, जब भी मन की बात के लिये लोगों से सुझाव माँगता हूँ मैंने देखा है कि स्वच्छता के विषय में हर बार आग्रह रहता ही है। मैं चाहता हूं, देशवासियों के मन में गंदगी के प्रति गुस्सा हो, जब गुस्सा होगा तब हम गंदगी के खिलाफ़ कदम उठाएंगे।

मैं यही तो चाहता हूँ, सवा-सौ करोड़ देशवासियों के मन में गन्दगी के प्रति गुस्सा पैदा हो। एक बार गुस्सा पैदा होगा, नाराज़गी पैदा होगी, उसके प्रति रोष पैदा होगा, हम ही गन्दगी के खिलाफ़ कुछ-न-कुछ करने लग जाएँगे।

सरकार द्वारा मातृत्व अवकाश बढ़ाए जाने की चर्चा करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि सरकार ने मैटरनिटी लीव की अवधि 12 हफ्ते से बढ़ाकर 26 हफ्ते कर दी है। इससे करीब फॉर्मल सेक्टर में काम करने वाली 18 लाख महिलाओं को लाभ मिलेगा।

Share This Post