गौ रक्षा पर मोदी का बयान. कुछ लोग हुए खुश, तो कुछ हुए हैरान


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से गुजरात के दो दिवसीय दौरे पर हैं। इस दौरान पीएम मोदी ने अहमदाबाद के साबरमती आश्रम का दौरा और वहां पर चरखा भी चलाया। साबरमती आश्रम में गाय पर बोलते हुए पीएम मोदी जनसभा के सामने ही भावुक हो गए और कहा कि हिंसा किसी भी समाज में स्वाकार्य नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि विनोबा भावे और गांधी जी से बड़ा कोई गौरक्षक नहीं हो हुआ है, उन्होंने सेवा को अपने जीवन का लक्ष्य बनाया और गायों के हित में काम किया। 
पीएम मोदी ने कहा कि हमें महानपुरुषों को याद रखना होगा, नहीं तो इतिहास भूलने की बड़ी किमत चुकानी पड़ सकती है। महात्मा गांधी से मिलने बड़ी-बड़ी हस्तियां आती थी, लेकिन दुनिया का कोई भी व्यक्तित्व महात्मा गांधी को प्रभावित नहीं कर पाया, लेकिन रामचंद्र जी ने गांधी को अपने व्यक्तित्व में समेट लिया। अपनी अमेरिका की यात्रा के बारे में बताते हए पीएम मोदी ने कहा कि अभी मैं नीदरलैंड्स गया, मुझे नई जानकारियां मिलीं, भारत के बाद दुनिया में सबसे अधिक मार्गों के नाम गांधी के नाम पर कहीं हैं तो नीदरलैंड्स में हैं। 
साथ ही उन्होंने कहा कि श्रीमद् राजचंद्र जी के जीवन और विचारों पर और अकादमिक शोध किया जाना चाहिए। गोरक्षकों की हिंसा पर पीएम मोदी ने कहा कि किसी इंसान को मारकर गोरक्षा नहीं की जाती है। उन्होंने सख्त संदेश देते हुए कहा कि हिंसा किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं की जा सकी। इस देश में किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने का अधिकार नहीं है। हम सभी को अहिंसा के रास्ते पर चलना चाहिए, हिंसा से आज तक किसी भी चीज का समाधान नहीं हुआ है।  

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share