मोदी सरकार के इस फैसले से अब देश के हर बच्चे को मिलेगा भरपेट खाना, नहीं सोयेगा कोई भूखा

नई दिल्ली : हाल ही में रेडियो पर हुए 26 मार्च को मन की बात में पीएम नरेंद्र मोदी ने देश की 5 स्टार होटलों में खाने की बर्बादी न करने को अपील की थी। अब इसको केंद्र सरकार जारी करने जा रही है। अब केंद्र सरकार इसका फैसला करेगी कि होटलों की थाली में कितना खाना परोसा जाएगा। इस योजना पर केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान के अनुसार मंत्रालय इस नियम पर कार्य कर रहीं है।

बता दें कि सरकार यह कदम दो कारणों से उठा रही है। पहला- होटलों में खाने की होने वाली बर्बादी को बचाने के लिए और दूसरा- लोग जीतना खायें उतने का ही पैसा चुका सके। इस नियम के आने के बाद सभी होटलों के मेन्यू में खाने की मात्रा लिखना अनिवार्य होगा।  इस नियम को बनाने से पहले देशभर इसका सर्वे किया जाएगा।

रामविलास पासवान के अनुसार, यह नियम छोटे होटलों और ढाबों पर लागू नहीं होगा। उन्होंने कहा कि खाने की बचत और पैसों की बचत के लिए हम कुछ इस प्रकार का एक्शन ले रहे है जिससे अगर कोई खाना ज्यादा खाना चाहता है तो दोबारा ऑर्डर कर सकता है। लेकिन पहले ज्यादा मांगकर खाना बर्बाद करके इसका कोई फायदा नहीं है।

पासवान ने कहा कि अगर कोई होटल में हाफ प्लेट खाने की मांग करता है, तो उसे उसके हिसाब से ही पैसे लेने चाहिए। उन्होंने कहा कि हम यह नियम खुद तय नहीं करेंगे, सभी से सलाह के बाद ही इसकी मात्रा तय करेंगे। उन्होंने अधिकारियों को विश्वास दिलाया कि इससे इंडस्ट्री पर कोई असर नहीं होगा। गौरतलब है कि अगर खाने की बर्बादी को रोकने के लिये सरकार इस प्रकार के कदम को उठा रही है, तो सभी को साथ आकर इसपर फैसला लेना होगा।

राष्ट्रवाद पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW