कैसे मोदी जी के सिर्फ एक फोन से बची 4 हजार 8 सौ लोगों की ज़ान.. हम बता रहे आपको


पीएम नरेंद्र मोदी जनता के हित के लिए हर संभव प्रयास करते हैं। जी हां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 48 सौ भारतीय नागरिकों की जान सिर्फ एक फोन कॉल के जरिए बचाई थी। 2015 में सऊदी अरब की फौज ने यमन को अपना शिकार बनाया था। उस समय भारतीय मूल के नागरिकों सहित 1972 विदेशियों की जान पीएम मोदी के एक फोन कॉल के चलते बची थी।

आपको बता दे कि विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आसियान के मंच पर इंडिया प्रवासी भारतीय दिवस पर बोलते हुए इस बात का खुलासा किया है।

सुषमा ने बताया कि 2015 में जब सऊदी हमला यमन पर हुआ, तो हजारों भारतीयों के यहां फंसे होने के चलते वह काफी चिंता में थे। सऊदी अरब की फौजें लगातार बमबारी कर रही थीं। साथ ही सुषमा ने बताया कि इसके बाद उन्होंने पीएम मोदी से इस संबंध में चर्चा की। उन्होंने पीएम मोदी से आग्रह किया कि वह रियाद में राजा से बात करें। पीएम मोदी ने सऊदी किंग से अपील की कि एक हफ्ते तक बमबारी रोकी जाए।

सऊदी किंग ने रोजाना दो घंटे (सुबह 9 से 11 बजे तक) बमबारी रोकने पर सहमति जताई।

इस दौरान खुद उन्होंने यमन सरकार से अपील की कि फंसे भारतीयों को सुरक्षित तरीके से निकालकर अदेन बंदरगाह व सेना हवाई अड्डे तक पहुंचाया जाए। सुषमा ने बताया कि ये प्रयास जब सफल नहीं हुआ, तो पीएम मोदी के फोन से रोजाना दो घंटे तक सऊदी हमला रुका। 11 दिनों तक चले इस अभियान के जरिए भारतीय नागरिकों सहित विदेशियों को भी बचा लिया गया।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share