अतीक़ के गुर्गे से रवि को नहीं बचा पाई इलाहाबाद की वो पुलिस जिसने कभी बड़ी जांबाजी दिखाई थी अपने ही स्टाफ के सब इंस्पेक्टर शैलेन्द्र को पकड़ने में


ये वही इलाहबाद पुलिस है जो इंस्पेक्टर शेलेन्द्र सिंह पर अपनी दादागिरी चलाती है. ये वही इलाहाबाद पुलिस है जो अपने लोगों पर तो दबाव बनाती है पर गुंडों पर इनका बस नही चलता. ज्ञात हो कि हम यानी सुदर्शन इंस्पेक्टर शेलेन्द्र सिंह के रिहाई की मांग को लेकर उद्द्वेलित है और सरकार से उम्मीद लगाये बैठे है की शेलेन्द्र सिंह के मामले में, शेलेन्द्र सिंह के परिवार के साथ न्याय हो और समाज में ये संदेश जाये की कोई भी न्याय रक्षक बिना डरे अपने कर्तव्य का पालन दृढ़ता से करे.

कुछ पुलिस वाले ऐसे भी होते है जिनकी लापरवाही और चापलुसी से बेगुनाहों को अपनी जान गंवानी पड़ रही है.यूपी पुलिस की क्राइम ब्रांच के एक दरोगा पर गुप्त जानकारी लीक करने का गंभीर आरोप लगा है.बताया जा रहा है कि दरोगा ने कुछ दिन पहले मुंडेरा में सातिर बदमाश अतीक अहमद के लोगों के साथ दारू पार्टी के बीच तोता की गिरफ्तारी में रवि की मुखबिरी का जिक्र कर दिया था.तोता को जैसे ही इस बात की भनक लगी तो उसने अपने भाई सलमान को रवि को ठिकाने लगाने का आदेश दिया और यह कत्ल हो गया.

कसारी-मसारी में गुरुवार दोपहर प्रापर्टी से जुड़े रवि पासी की हत्या के लिए पुलिस खुद जिम्मेदार है.रवि पासी के कत्ल के पीछे यह बात सामने आई है कि उसने अतीक अहमद के शूटर तोता की गिरफ्तारी के लिए मुखबिरी की थी.जानकरी मिली है कि क्राइम ब्रांच ने ही रवि से मुखबिरी मिलने की बात अतीक गैंग के लोगों के सामने लीक कर दी थी. जिसके बाद कसारी-मसारी में 120 फुट रोड पर रवि पासी की पांच गोली मारकर हत्या कर दी गयी.

प्रापर्टी के धंधे से जुडे़ रवि के बारे जानकारी मिली है कि वह कुछ समय पहले तक अतीक गैंग के लोगों की जमीन बिकवाता था.उनसे विवाद होने पर उसने अतीक गैंग के लोगों का साथ छोड़ दिया जिसके बाद अतीक गिरोह के लोग उसे मारने की फिराक में थे.पुलिस का कहना है कि अतीक के लोगों से विवाद के लिए वह तोता को जिम्मेदार मानता था.तोता को सबक सिखाने के लिए वह पुलिस से मिल गया.जिसके बाद वह तोता की सारि गतिविधियों की जानकारीयां पुलिस को देने लगा था.

फरार तोता उस रात अपने घर आया तो रवि को भनक लगी और उसने ही आधी रात बाद क्राइम ब्रांच को खबर दे दी.जिस पर पुलिस ने कार्यवाही करते हुए तोता को मुठभेड़ के बाद पकड़ा.एसएसपी आकाश कुलहरि का कहना है कि सभी बिंदुओं पर जांच के साथ ही नामजद आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम छापेमारी कर रही है.रवि की पत्नी सीमा ने जेल में बंद जुल्फिकार उर्फ तोता पर साजिश तथा उसके भाई सलमान और चचेरे भाई अल्ताफ पर रवि को मारने का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया है.

आपको बता दे कि अतीक अहमद उत्तरप्रदेश में आतंक का प्रयाय है और उसका बाल भी बांका नही हो रहा वही कानून के रखवाले शेलेन्द्र सिंह को इन्होने सलाखों के पीछे कैद कर रखा है जिनका आजाद होना बेहद जरुरी है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share