ममता बनर्जी के गृहयुद्ध की धमकी पर खामोश रहे सभी तथाकथित सेक्युलर दल.. जवाब दिया तो सिर्फ अमित शाह ने और ये रहा जवाब

असम का NRC ड्राफ्ट जारी होने के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बौखला गयी हैं. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी असम में नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) में करीब 40 लाख लोगों के नाम न होने को लेकर बीजेपी सरकार पर हमला बोलने में होश खो बैठी तथा गृहयुद्ध की धमकी दे डाली. ममता बनर्जी ने कहा कि  ‘ बीजेपी लोगों को बांटने की कोशिश कर रही है. इसे बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है. अगर भाजपा ने NRC लागू किया इससे देश में गृहयुद्ध की स्थिति बन जाएगी, खूनखराबा होगा, भीषण रक्तपात होगा.

ममता द्वारा भारतमाता का आंचल लहूलुहान करने की, गृहयुद्ध की धमकी देने के बाद जहाँ पूरा देश ममता बनर्जी से सवाल कर रहा लेकिन देश के एक भी राजनैतिक दल की ये हिम्मत नहीं हुई कि वह ममता बनर्जी से इसका स्पष्टीकरण तक ले पाता, एक सवाल तक कर पाटा कि आखिर वह देश को गृहयुद्ध में धकेलने की बात कैसे कर सकती हैं. जब सारे दल ममता बनर्जी की देश में रक्तपात की धमकी को मौन समर्थन दे रहे थे उसी समय वो पार्टी ममता को जवाब देने के लिए सामने आयी जो अक्सर आती है. हम बात कर रहे हैं भारतीय जनता पार्टी की. हिन्दुस्तान में गृहयुद्ध की ममता बनर्जी की धमकी के बाद भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ममता बनर्जी को करारा जवाब दिया है.

ममता बनर्जी ने गृहयुद्ध वाले बयान पर भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि हिन्दुस्तान ममता बनर्जी का वास्तविक चेहरा देख रहा है जिसमें वह बांग्लादेशी घुसपैठियों के लिए आपने प्यार के कारण पावन भारतभूमि को लहूलुहान करने की धमकी दे रही हैं. अमित शाह ने कहा कि ममता स्पष्ट करें कि किस आधार पर गृहयुद्ध होगा. भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि मजहब के नाम पर हिंदुस्तान के टुकड़े पहले ही किये जा चुके हैं और एक बार फिर ममता बनर्जी वही धमकी दे रही हैं. अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी के नापाक मंसूबे कभी कामयाब नहीं होने दिए जायेंगे. 

Share This Post