Breaking News:

नरेंद्र मोदी की ही तरह एक और बडे राजनेता का मज़ार पर टोपी पहनने से इंकार ..हाथ से दूर की टोपी

कुछ वर्ष पहले भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने जब मंच से पहनाई जा रही मुस्लिमों की टोपी को पहनने से सार्वजनिक रूप से इनकार कर दिया था तब मची थी भयानक राजनीति जिसके चलते खड़ा हुआ था राजनैतिक तूफान .. उस समय विपक्ष ने अपने अपने अंदाज में मोदी के ख़िलाफ़ बयानबाजी की थी .. इस बार भी विपक्ष को मिल सकता है एक मौका कयोकि इस बार भी ऐसा करने वाला एक ऐसा राजनेता है जिसे भारत मे माना जाता है हिंदुत्व का सबसे बड़ा ब्रांड  ..

ये मौका था कबीर की जयंती का जब भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी भी कबीर के लिए अपने विचार व्यक्त कर रहे थे .. कबीर की मज़ार मगहर पर तमाम लोगों का आना जाना लगा हुआ था .. उसी मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ भी पहुचे थे ..कबीर के भक्त भले ही कभी टोपी आदि लगा कर न जाते हो कबीर पन्थ के कार्यक्रम में  लेकिन उनकी मज़ार पर कारकुल टोपी पहनाने के लिए वहां का मज़ार संरक्षक पहुँच और योगी को वो टोपी पहनाने लगा ..

योगी आदित्यनाथ ने फौरन ही मज़ार के उस केयर टेकर को अपने हाथों से पीछे कर दिया और टोपी पहनने से इंकार कर दिया .. ये पूरी घटना वीडियो कैमरे में कैद हो गई .. कारकुल टोपी के बारे में माना जाता है कि वो भेड़ के बाल से बनी होती है और कहा ये भी जाता है कि वही टोपी मुहम्मद अली जिन्ना व कई अन्य मुस्लिम नेता पहना करते थे .. योगी के इस कदम का हिन्दू समाज मे खुल कर स्वागत हो रहा है और सबने आस्था को स्वीकार करने वाले नियम को प्रथमिकता देने को कहा न कि आस्था को लादने वाले नियम को जबरन थोपने की मंशा को .. दूसरी बात ये टोपियां खास तौर पर सर्दियों के मौसम के लिए बनी होती हैं ..

देखें चित्र उस समय का .


 

 

Share This Post