Breaking News:

मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने पर बीजेपी दे रही है अपने कार्यों का हिसाब

मई 2014 में एतिहासिक जीत के साथ बीजेपी ने भारत में सरकार का गठन किया. एक चेहरा था जो सबकी आखों में था, एक बुलंद आवाज जो सबके कानो में गूंज रही थी, और वो आवाज थी नरेंद्र दामोदरदास मोदी की. गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को तीन साल पहले जनता ने गुजरात छोड़कर दिल्ली में आने को मजबूर कर दिया. यह पहली बार हुआ कि एक वर्तमान मुख्यमंत्री देश के प्रधानमंत्री पद का उत्तराधिकारी बना. नरेन्द्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद 130 करोड़ भारतीयों को विश्वास हो गया कि अब भारत विकास उन्नति की और जायेगा. आज मोदी सरकार के तीन साल पूरे हो गये. तीन सालों में मोदी सरकार ने ऐसे कृतिमान रच डाले जिससे विपक्ष लोहे के चने चबाने के बाद भी संभल नहीं पाया. आज भारत मोदी सरकार के तीन साल पूरे होने की उपलक्ष में जश्न माना रहा है. इस जश्न में याद करते है मोदी सरकार के कुछ कृतिमान.

नरेंद्र मोदी का स्वच्छता भारत मिशन-
भारत में कई प्रधानमंत्री बने मगर किसी का भी स्वच्छता के प्रति अपना ऐसा लगाव नहीं देखा गया. नरेंद्र मोदी ने स्वच्छता को एक अभियान बनाकर देश के प्रति एक व्यक्ति तक पंहुचा दिया. नरेंद्र मोदी खुद इस अभियान का हिस्सा बने और झाड़ू लेकर मैदान में उतर गए. अपने प्रिय नेता को देख वीवीआईपी से लेकर घरों में काम करने वाले लोगों ने भी देश को स्वच्छ बनाने की बीड़ा उठा लिया. स्वच्छता अभियान का परिणाम कितना मिला इस बारे में ज्यादा नहीं कहा जा सकता, लेकिन देश में लोग इस बारे में प्राथमिकता से विचार करने लगे, यह इस अभियान की सफलता के पयमाने में एक जरूर है.

प्रधानमंत्री की समय पाबंदी-
नरेंद्र मोदी को समय की पाबंदी व मेहनत करना पसंद है. मोदी दिन में 18 घंटे काम करते हैं. जब से मोदी सरकार केन्द्र में आई है तब से सरकारी कर्मचारियों ने भी समय से आने व जाने की प्रक्रिया को अपना लिया. जहाँ मंत्रालयों में कर्मचारी 11 बजे के बाद दिखाई देते थे और 3 बजे तक कुर्सियां खाली होना शुरू हो जाती वहां की परिस्थिति बिल्कुल बदल गई है. पीएम मोदी के आदेशनुसार लगभग सभी केंद्रीय सरकारी कार्यालयों में बायोमेट्रिक मशीन लगवा दी गई.

नरेंद्र मोदी ने एतिहासिक सर्जिकल स्ट्राइक कर पाकिस्तान को दिया जवाब-  
नरेंद्र मोदी सरकार ने इतिहास रचते हुए पाकिस्तान के नियंत्रण वाले कश्मीर के हिस्से में सर्जिकल स्ट्राइक की मंजूरी दी और भारतीय सेना ने पहली यह कारनामा कर पूरी दुनिया को चोका दिया. कांग्रेस ने अपनी दाल फीकी होते देख कहा कि उनके कार्यकाल के दौरान में ऐसा हुआ लेकिन उन्होंने ढिंढोरा नहीं पीटा. वर्तमान डीजीएमओ ने इसे अपनी तरह का पहला ऑपरेशन बताया और कहा कि ऐसा सर्जिकल स्ट्राइक भारत में पहली बार हुआ है.  

मोदी की भ्रष्टाचार रोकने की मुहीम-
नरेंद्र मोदी ने सरकार बनाते ही भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की मुहीम शुरू कर दी. जिसके लिए मोदी ने सभी सरकारी भुगतान ऑनलाइन करने का निर्णय लिया. टेंडरिंग को पूरी तरह ऑनलाइन करने का आदेश दिया. इस तरह के कई आदेश सरकार ने दिए. मोदी सरकार की उपलब्धि ये है कि पिछले तीन साल में अभी तक सरकार पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा है. जबकि पिछली सरकार में मंत्री से लेकर प्रधानमंत्री तक पर आरोप लगते रहे हैं.

प्रधानमंत्री का नोटबंदी का ऐलान-
नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 रात करीब 8 बज़े 500 और 1000 के नोट को बंद करने का ऐलान कर देश को अचम्बे में डाल दिया. भारत की पूरी अर्थव्यवस्था जैसे रुक गई. प्रधानमंत्री ने लोगों से दो महीने का समय मांगा और लोगों अपने प्रधानमंत्री की बात मानते हुआ दो महीने का समय दे दिया. इस दौरान लोगों को काफी कष्ट का सामना करना पड़ा विपक्ष ने इस मुद्दे पर सरकार को घेरना चाहा पर लोगों का मोदी से विश्वास कम नहीं हुआ.
 
तकनीक के प्रति रुझान-
प्रधानमंत्री बनने से पहले नरेंद्र मोदी गुजरात के सीएम थे. वहां से वह लगातार सोशल मीडिया के जरिए लोगों से जुड़े रहे हैं. मोबाइल तकनीक और तकनीक का प्रयोग कामकाज में करने ताकि पारदर्शिता बने और काम सहज हो. यह प्रधानमंत्री के रूप में नरेंद्र मोदी की देश को एक देन है. भारत में राष्ट्रपति का एक ट्विटर हैंडल बना. पीएमओ का ट्वीटर हैंडल, पीएम का, सभी मंत्रालयों और मंत्री को ट्विटर से लोगों से जुड़ने का आदेश दिया गया और सभी को सक्रियता से इससे जुड़ने की बात कही गई. परिणाम साफ है कि विदेश मंत्रालय से लेकर रेल, और कई मंत्रालयों में लोगों ने ट्विटर के जरिए अपनी समस्याओं का समाधान किया. कई बार तो बड़ी समस्याओं का समाधान एक ट्वीट से ही हो गया. उससे बड़ी बात तो ये है कि समय पर लोगों को सुविधा मिली और लोगों ने पीएम की इस मुहिम का लाभ उठाया और धन्यवाद दिया.

प्रधानमंत्री का डिजिटल भारत-
नरेंद्र मोदी ने भारत को डिजिटल भारत का सपना दिखाया. मोदी लोगों से इस दिशा में काम करने का आग्रह किया. लोगों ने भी मोदी की बात का सम्मान करते हुए डिजिटल भारत में योगदान देना शुरू कर दिया. मोदी ने सरकार के सभी विभागों को डिजिटलाइजेशन के लिए प्रेरित किया. उनका मानना है कि इससे पर्यावरण से लेकर धन की हानि दोनों को बचाया जा सकता है. कई सरकारी काम अब इस माध्यम से होने लगे हैं. इतना ही नहीं कई ऐसे फॉर्म को सरल किया जिसके चलते लोगों को समस्याओं का सामना करना पड़ता था.

भारत को कैशलेश बनाने की मुहिम-
प्रधानमंत्री ने न्यू इंडिया की संकल्पना की है. नरेंद्र मोदी ने लोगों से कैशलेस भारत बनाने को कहा. मोदी ने कहा कि देश में नकदी का चलन न हो यह सबसे बड़ा माध्यम है भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने का. पीएम को कितनी कामयाबी मिली, या मिलेगी यह तो साफ नहीं कहा जा सकता है, लेकिन लोगों ने माना कि पीएम भ्रष्टाचार के खिलाफ मजबूत किलेबंदी की दिशा में आगे बढ़ रहे हैं और लोगों उनका साथ दे रहे है.

पाकिस्तान को अलग कर घुटनों पर दिया-
नरेंद्र मोदी ने अंतरराष्ट्रीय मंच पर आतंकवाद को ख़तम करने की मुहीम शुरू कर दी और पाकिस्तान को भारत ने अलग थलग कर दिया. आज पाकिस्तान पर अमेरिका से लेकर कई देशों ने दबाव बनाया है कि वह आतंकवाद को प्रशय देना बंद करे. इस काम में मोदी सरकार को बड़ी कामयाबी मिली है.

ये मोदी सरकार की कुछ ही उपलब्धिया है न जाने कितनी और उपलब्धि है जिसने मोदी सरकार को भारत की सबसे अच्छी पार्टी बना दिया. लोगो को विश्वास है की नरेन्द्र मोदी भारत को विकास के रथ पर ही रखते हुए आगे ले जायेंगे.

Share This Post