सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अब ‘कांग्रेस’ तथा ‘आप’ ने उसी अंदाज में वार किया CRPF के शौर्य को… नक्सलियों से मुठभेड़ को बता दिया फर्जी…

वो दिन हर हिंद्सुतानी को याद होगा जब उड़ी आतंकी हमले के बाद आक्रोश की ज्वाल में जल रही भारतीय सेना के जांबाज जवानों ने LOC पार के पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक को अंजाम दिया था जिसकी गूँज आज तक सुनाई देती है. जब खुद भारतीय सेना ने ने मीडिया के सामने आकर इसकी घोषणा की कि हमने पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों को मारा है तो पूरे देश का सीना गर्व से चौढ़ा हो गया था तथा पूरा देश के सुर में जय हिन्द की सेना बोल रहा था फिर एकदम से वो हुआ जिसने न सिर्फ सेना बल्कि पूरे देश को सन्न कर दिया. कांग्रेस पार्टी तथा आम आदमी पार्टी ने भारतीय सेना को शौर्य को सीधी चुनौती देते हुए सर्जिकल स्ट्राइक को ही फर्जी करार दिया जबकि सेना खुद बोल रही थी कि हमने सर्जिकल स्ट्राइक की है.

कांग्रेस तथा आम आदमी ने सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अब एक बार फिर से सेना के शौर्य को ललकारा है तथा इस बार कांग्रेस के निशाने पर है CRPF के जवान. आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ में नक्सल हिंसा के खिलाफ सुकमा में की गई सुरक्षा बल की सबसे कार्रवाई के दावे पर कांग्रेस ने सवाल खड़े कर दिए हैं. कांग्रेस के नेता और पूर्व केन्द्रीय मंत्री अरविंद नेताम ने सुकमा मुठभेड़ को फर्जी करार दिया है. कांग्रेस नेता अरविंद नेताम का आरोप है कि मुठभेड़ में नाबालिगों को निशाना बनाया गया है. आरोप है कि मुठभेड़ में नक्सलियों नहीं बल्की आम ग्रामीणों को मारा गया है. कांग्रेस के आदिवासी नेता अरविंद नेताम ने बुधवार को जगदलपुर कांग्रेस भवन में प्रेसवार्ता ली. इसमें अरविंद नेताम ने सुकमा गोलापल्ली और कोंटा थाना क्षेत्र में बीते छह अगस्त को हुई मुठभेड़ को पूरी तरह फर्जी मुठभेड़ बताया. अरविंद नेताम ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के उस बयान पर भी सवाल उठाये, जिसमें मुख्यमंत्री ने कहा था कि नक्सली सरेंडर करें नहीं तो मरने के लिए तैयार रहें. नेताम ने कहा कि ये प्री प्लान ऑपरेशन था और उन्होंने घायल और गिरफ्तार नक्सली की गिरफ्तारी पर भी सवाल उठाए.

कांग्रेस से पहले छत्तीसगढ़ में आम आदमी पार्टी की नेता सोनी सोढ़ी भी सुकमा में नक्सलियों के खिलाफ कार्यवाही को फर्जी बता चुकी हैं. सोनी सोढ़ी ने कहा कि सुरक्षा बलों कि नक्सलियों के खिलाफ कार्यवाही फर्जी है. कितना आश्चर्य है कि सेना के पराक्रम, शौर्य पर सवाल खड़े करने में कांग्रेस तथा आप की विचारधारा एकदम मिलती जुलती है. सर्जिकल स्ट्राइक पर भी कांग्रेस तथा आप ने फर्जी होने के आरोप लगाये थे अब नक्सलियों के खिलाफ कार्यवाही पर भी सवाल दोनों ने ही उठाये हैं. गौरतलब है कि सुकमा में आॅपरेशन मानसून के तहत सुरक्षा बल के जवानों ने मुठभेड़ में 15 नक्सलियों को मार गिराने के अलावा नक्सलियों के शव के साथ हथियार और अन्य नक्सल समाग्री बरामद करने का दावा भी किया. इसके साथ ही दो नक्सलियों की गिरफ्तारी भी बात कही गई. इस कार्रवाई को नक्सल हिंसा के खिलाफ इस साल की सबसे बड़ी कामयाबी बताया गया.

Share This Post