Breaking News:

पत्थरबाज़ों को “वाह” , लेकिन संघ प्रमुख पर “आह” … आखिर ये कैसी है कांग्रेस की “राह”

राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने बिहार के मुजफ्फरनगर में राजेद्रं नगर स्थित एक शाखा के कर्यक्रम में सबोंधित करते हुए कहा कि अगर सेना चाहे तो RSS के स्वंयसेवकों को मात्र 3 दिन में तैयार कर सकती है , लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने इंस खबर पर टिप्पणी करते हुए कहा है ,संघ प्रमुख मोहन भागवत ने सैना का अपामान किया है.. , असल मे राहुल शायद सेना को पत्थर मारना आदि सेना का अपमान नहीं समझते होंगे ..

संघ प्रमुख ने अपने सबोंधन मे यह कहा है कि जहाँ सामान्य समाज को 6 महिने में सेना तैयार करती है लेकिन वहीं RSS के स्वंयसेवक को सेना मात्र 3 दिन में ही तैयार कर सकती है , संघ प्रमुख ने ये बात इसलिए कही क्युंकी RSS के स्वंयसेवक संघ कि शाखा में प्रतिदिन आते है जहां स्वंयसेवको को खेलकूद , शारीरिक प्रशिक्षण मिलने से मातृभूमि के लिए समर्पित होने का संस्कार मिलता है..

भारतीय जीवन मूल्यों कि समझ बढ़ती है , ऐसे कई गुंण है जिसके कारण भारतीय सेना स्वयंसेवको को परिस्थिति आने पर मातृभूमि कि रक्षा के लिए मात्र 3 दिन में तैयार कर सकती है , साथ ही संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख डा. मनमोहन वैध का बयान भी सामने आया है , उन्होने कहा की सरसंघचालक मोहन भागवत के मुजफ्फरनगर में दिये गये वाक्तव्य को गलत तरिके से प्रस्तुत किया गया है, भागवत जी ने कहा कि परिस्तिथि आने पर गथा संविधान द्वारा मान्य होने पर भारतीय सेना को सामान्य सामाज को तैयार करने के लिए 6 महीने का समय लगेगा तो संघ के स्वंयसेवकों को भारतीय सेना 3 दिन में तैयार कर सकेगी , कारण स्वंयसेवकों का अभ्यास रहता है , यह सेना के साथ तुलना नही थी पर सामान्य समाज और स्वंयसेवकों के बीच में थी , दोनो को भारतीय सेना को ही तैयार करना होगा , 

Share This Post