राजनीति में रह कर धर्म की रक्षा नहीं हो सकती .. ये कह कर श्री फायरब्रांड सूरजपाल अम्मू जी ने छोड़ दी भाजपा

पद्मावती विवाद के सबसे बड़े केंद्रबिंदु रहे फायरब्रांड नेता श्री सूरजपाल अम्मू जी ने आख़िरकार खिन्न मन से भाजपा का साथ छोड़ ही दिया . बुधवार को रानी पद्मिनी के जौहर स्थल पर जाने के बाद उन्होंने साफ़ तौर पर कहा कि राजनीति में रह कर कभी भी धर्मरक्षा नहीं हो सकती इसलिए वो आगे कभी भी राजनीति नहीं करेगे . इसके साथ ही उन्होंने भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से भी इस्तीफा दे दिया . 

श्री अम्मू जी पद्मावत फिल्म का विरोध करने व अभिनेत्री दीपिका पादुकोण की नाक काटने की धमकी देने के बाद पूरे भारत में चर्चा का विषय बन गये थे और इसी के चलते हरियाणा पुलिस ने उनकी गिरफ्तारी कर ली थी . हिरासत में उनके चार दिन रहने के बाद आखिरकार उन्हें जमानत मिल गयी . इसके बाद उन्होंने करणी सेना के पदाधिकारियों के साथ रानी पद्मिनी के जौहर स्थल का दर्शन किया .

श्री अम्मू जी की गिरफ्तारी के बाद राजस्थान से ले कर हरियाणा तक के हिन्दू समाज में काफी आक्रोश फ़ैल गया था . श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने अम्मू जी को जल्द से जल्द न छोड़ने पर दिल्ली कूच तक की चेतावनी दे डाली थी .  श्री अम्मू का पार्टी से त्यागपत्र निश्चित तौर पर भाजपा के लिए एक बड़ी हानि के रूप में देखा जा सकता है . 

Share This Post

Leave a Reply