संघ के राष्ट्रवाद पर उंगली उठाती कांग्रेस के पहले अध्यक्ष व्योमेश बनर्जीं का बयान सुनिए…जानें वो सच जो कभी बताया नहीं गया

कांग्रेस पार्टी अक्सर राष्ट्रीय स्वयंसेवक के राष्ट्रवाद का उंगली उठाती है तथा कहती है कि आरएसएस स्वतंत्रता संग्राम आंदोलन के साथ अंग्रेजों से मिला हुआ था. वो आरएसएस जो आज दुनिया का सबसे बड़ा स्वयंसेवी संगठन है तथा जिसका हर स्वयंसेवक राष्ट्र के प्रति पूरी तरह से समर्पित है..उस आरएसएस के राष्ट्रवाद पर कांग्रेस पार्टी सवाल खड़े करती है. लेकिन कांग्रेस पार्टी के पहले अध्यक्ष की क्या सोच थी, क्या विचारधारा थी ये जानकर आप सकते में पड़ जायेगें तथा सामने आएगा कांग्रेस का वो सच जो आज तक किसी को बताया ही नहीं गया.

गौरतलब है कि कांग्रेस पार्टी देश की सबसे पुरानी राजनैतिक पार्टी है जिसके स्थापना 1885 में हुई थी और इसके प्रथम अधिवेशन में अध्यक्ष चुने गए व्योमेश चंद्र बनर्जी. लंबी दाड़ी वाले एक ऐसे नेता थे जिन पर अंग्रेजियत पूरी तरह से हावी थी. जो कांग्रेस आरएसएस के राष्ट्रवाद पर प्रश्नचिन्ह लगाती है उस कांग्रेस के प्रथम अध्यक्ष व्योमेश चंदे बनर्जी की वैश्विकता अभी तक देश के सामने ही नहीं लाइ गई. कांग्रेस के प्रथम अध्यक्ष व्योमेश चंद्र बनर्जी के बारे में कहा जाता है कि वो अंग्रेजी शासन को देश के लिए बेहतर मानते हैं. उनका कहना था कि हिन्दुस्तान पर अंग्रेजों का शासन हिंदुस्तान की भलाई के लिए है तथा हिन्दुस्तान के लिए काफी अच्छा है. और तो और जब देश में अंगरेजी शासन के खिलाफ आक्रोश का ज्वर उमड़ पड़ा तो व्योमेश च्नद्र बनर्जी अपने जीवन के आखिरी दिनों में जो लंदन जाकर बस गए.

व्योमेश चंद्र बनर्जी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के प्रथम अध्यक्ष और कोलकाता उच्च न्यायालय के प्रमुख वक़ील थे. ये भारत में अंग्रेज़ी शासन से प्रभावित थे और उसे देश के लिये अच्छा मानते थे. व्योमेश बनर्जी अंग्रेज़ी चाल-ढाल के इतने कट्टर अनुयायी थे कि इन्होंने स्वयं अपने पारिवारिक नाम ‘बनर्जी’ का अंग्रेज़ीकरण करके उसे ‘बोनर्जी’ कर दिया इतना ही नहीं अंग्रेजों से प्रभावित होकर इन्होंने अपने पुत्र का नाम भी ‘शेली’ रखा, जो कि अंग्रेज़ों में अधिक प्रचलित था. ये कांग्रेस पार्टी की मूल सोच है..वो सोच जो कांग्रेस के पहले अध्यक्ष की सोच थी. आश्चर्य की बात है कि इसके बाद भी कांग्रेस आरएसएस को निशाने पर लेती है लेकिन अपने इतिहास को देश की जनता को नहीं बताती.

Share This Post

Leave a Reply