Breaking News:

प्रधानमन्त्री मोदी जी के नाले की गैस से चाय बनाने वाले बयान का मजाक उड़ाया था राहुल गांधी ने.. लेकिन राहुल को जवाब मोदी ने नहीं बल्कि गाजियाबाद के इस रामू चायवाले ने दिया है


विश्व जैव ईधन दिवस के दिन प्रधानमन्त्री श्री नरेंद्र मोदी जी के एक कार्यक्रम के दौरान भाषण देते एक चाय वाले का जिक्र किया था कि वह नाले से निकली गैस से चाय बनाता था. प्रधानमन्त्री जी ने कहा था कि उन्होंने एक बार अखबार में पढ़ा था कि एक चाय वाला था जिसने नाले में पाइप लगाया तथा उससे निकलने वाली गैस से चाय बनाई थी. इस भाषण के बाद प्रधानमन्त्री जी को उनके आलोचकों ने ट्रोल किया था तथा कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी मोदी जी की आलोचना की थी तथा मजाक बनाया था.

नाले की गैस से चाय बनाने को लेकर प्रधानमन्त्री मोदी जी की आलोचना करने वालों को उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद के साहिबाबाद के रामू चायवाले ने जवाब दिया है तथा प्रधानमन्त्री जी की बात को स्सच साबित किया है. जी हाँ, आपको बता दें कि सहिबाबाद का रामू नाले की गैस से चाय बना रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कथन के बाद से रामू चायवाला भी फेमस हो गया है और उसके दुकान पर ग्राहकों की संख्या भी रोज बढ़ती जा रही है.  पहले नाले की बात सुनकर लोग कतराते थे, लेकिन स्वाद में कोई फर्क नहीं लगा तो अब आराम से चुस्की ले रहे हैं. नाले से निकले वाली गैस का इस्तेमाल कर के रामू ना सिर्फ पर्यावरण को बचा रहे हैं बल्कि गैस सिलेंडर पर होने वाले खर्च को भी बचा रहे हैं. इंद्रप्रस्थ इंजिनियरिंग कॉलेज, साहिबाबाद के सामने से सूर्य नगर का नाला आ रहा है, इसी नाले के अंदर से पाइपों का एक जाल बगल की चाय की ठेली में जाता है. यह ठेली कड़कड़ मॉडल निवासी रामू की है जिन्हें लोग रामू चायवाला भी बोल के संबोधित करते हैं.

रामू चायवाले ने बताया कि वह काफी दिनों से इस जगह पर चाय बनाते आ रहे है, पहले वह सिलेंडर पर ही चाय बनाया करते थे और महीने में 5 हजार रुपए तक कमा लेते थे जिसमें से 1200 रुपये सिलेंडर पर ही खर्च हो जाते थे. दो सप्ताह पहले उनकी मुलाकात कॉलेज के छात्रों से हुई जिनकी मदद से उन्होंने यहां नाले की गैस से चाय बनाना शुरू किया. इस तकनीक से उनके एलपीजी के 1200 रुपए भी बचने लगे और 10 दिन में ही 5 हजार रुपए की कमाई भी हो गई है. रामू ने ये बी ही बताया कि इस काम में अभिषेक वर्मा और अभिनेंद्र पटेल नामक दो छात्रों ने उनकी मदद की जो फिलहाल बीटेक कर रहे हैं.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...