महबूबा का साथ छूटते ही कश्मीर में बही हिंदुत्व की बयार.. अमित शाह के इस कदम से केसरिया रंग में रंग जाएगी घाटी…

जम्मू कश्मीर में महबूबा मुफ्ती सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद अब भारतीय जनता पार्टी ने फ्रंटफुट पर खेलने का फैसला कर लिया है. महबूबा सर्कार से समर्थन वापसी के समय ही  भाजपा ने साफ कर दिया है कि उसे कश्मीर में अपेक्षित परिणाम नहीं मिले, इसलिए अब पार्टी अपनी मूल विचारधारा के साथ चलेगी. इसका साफ संकेत है कि भारतीय जनता पार्टी अब हिन्दू राष्ट्रवाद के मुद्दे पर खुलकर खेल सकती है, जो भाजपा की मजबूती रही है.

महबूबा सरकार से समर्थन वापस लेने के बाद अब भाजपा अब खुलकर हिन्दू राष्ट्रवाद के मुद्दे पर वापस लौटती हुई नजर आ रही है तथा इसी क्रम में भाजपा ने बड़ा फैसला किया है. हर साल अमर बलिदानी डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाने वाली बीजेपी इस बार इसे और बड़े पैमाने पर मनाने जा रही है. जम्मू कश्मीर में अपनी सरकार की बलिदान करने  के बाद जम्मू संभाग में उत्साह से लबरेज पार्टी कैडर में नई स्फूर्ति का संचार करने खुद पार्टी अध्यक्ष अमित शाह जम्मू जाएंगे. गौरतलब है कि श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर इस बार बीजेपी जम्मू-कश्मीर में एक बड़ी रैली निकालने जा रही है. जम्मू-कश्मीर में पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र रैना ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि इस बार श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्यतिथि पर 23 जून को राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह राज्य में रैली करेंगे. इस मौके पर केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह समेत कई बड़े नेता जम्मू जाएंगे तथा महबूबा का साथ छूटते ही जम्मू-कश्मीर राज्य केसरिया रंग मेंरंग जायेगा.

जम्मो कश्मीर भाजपा अध्यक्ष श्री रविंद्र रैना ने कहा कि राज्य में नॉर्थ और साउथ पोला का गठबंधन इसलिए टूटा क्योंकि हमने कश्मीर में शांति के लिए कुछ जरूरी कदम उठाए, लेकिन वे सभी फेल हो गए. राज्य में अब सुरक्षाबलों को निशाना बनाया जा रहा था, लेकिन अब सेलेक्टिव लोग टारगेट किए जाने लगे. इसके चलते बीजेपी ने गठबंधन से बाहर आने का फैसला किया. आतंकियों के खिलाफ सेना के ऑपरेशन में किसी प्रकार की रोक-टोक नहीं है. सारे पाकिस्तानी आतंकियों को हमारे जवान मार गिराएंगे. रैना ने ये भी कहा कि बीजेपी अवसरवादी पार्टी नहीं है. पिछले तीन माह से राज्य में कानून-व्यवस्था बिगड़ती जा रही थी. इसके चलते यह गठबंधन टूटने की नौबत आई. रविंद्र रैना ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष जम्मू आएंगे तथा डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान दिवस पर एक बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा. उन्होंने कहा कि भाजपा डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के संकल्प “एक देश एक सविधान एक निशान” के लिए प्रतिबद्ध है तथा उनका सपना जरूर पूरा होगा.

Share This Post

Leave a Reply