पहली बार मनाया जा रहा किसी सरकार के गिरने का जश्न.. आखिर क्यों खुश हैं भगवा गमछे वाले


जब किसी पार्टी की सरकार गिरती है तो उसके समर्थकों में निराशा का माहौल छा जाता है, समर्थक उदास हो जाते हैं लेकिन जम्मू-कश्मीर में भाजपा ने अपने गठंधन की पीडीपी गठबंधन टूटने के बाद जब सरकार गिर चुकी है तो देश के हिंदूवादी संगठनों में जश्न का माहौल है. कल जैसे ही भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राममाधव ने महबूबा सरकार से समर्थन वापस लेने की घोषणा की, तो देश की राष्ट्रवादी जनता खुशी से झूम उठी तथा जम्मू कश्मीर सरकार के गिरने का जमकर जश्न मनाया.

भाजपा द्वारा अपने ही गठबंधन की सरकार गिराने के बाद न सिर्फ हिन्दू संगठन बल्कि भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता भी खुशी से झूमने लगे. समस्त हिन्दू संगठनों ने एक सुर में कहा कि जम्मू कश्मीर में भाजपा पीडीपी का गठबंधन के बेमेल गठबंधन था तथा ये गठबंधन राष्ट्र के रक्षक सैनिकों के लिए काल बन रहा था. हिन्दू संगठनों का कहना है किन सिर्फ जम्मू कश्मीर राज्य बल्कि समस्त राष्ट्र की एकता तथा अखंडता के लिए, देश के दुश्मनों को सबक सिखाने के लिए, आतंकवादियों को कुचलने के लिए भाजपा के समर्थन वाली महबूबा सरकार का गिरना जरूरी था. और आखिरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा भाजपा नेतृत्व ने राष्ट्र की इस आवाज को सुना व पीडीपी से अपना गठबंधन तोडा.

भाजपा द्वारा पीडीपी से गठबंधन तोड़ने के बाद देश की  राजधानी दिल्ली में भी जश्न मनाया गया. दिल्ली में बजरंग दल, विश्व हिन्दू परिषद्, सुदर्शन वाहिनी, हिन्दू युवा वाहिनी तथा अन्य संगठनों ने भी भाजपा के इस फैसले की सराहना क़ी तथा कहा कि अब राजयपाल शासन लगाने के बाद भारत सरकार को धारा ३७० हटाने की प्रिक्रिया पर काम शुरू करना चाहिए तथा न सिर्फ आतंकियों बल्कि पत्थरबाजों का इलाज भी गोली से करना चाहिए क्योंकि ये पत्थरबाज भी किसी आतंकी से कम नहीं हैं बल्कि ये आतंकी ही हैं. इसके अलावा सोशल मीडिआ पर हिन्दू संगठनों तथा कार्यकर्ताओं ने भाजपा व पीडीपी गठबंधन टूटने की एक दूसरे को बधाई दी तथा उम्मीद जताई कि अब सेना अपने हिसाब से आतंकियों को कुचल सकेगी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...