एक ऐसा मामला जिसमे कांग्रेस के खिलाफ खड़ी हो गईं #MamataBanarjee .. वो मुद्दा जिसके लिए खड़ा हो गया था राष्ट्र

सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग लाने का फैसला कांग्रेस पार्टी के लिए आत्मघाती गोल जैसा साबित होता नजर आ रहा है. पहले खुद कांग्रेस के ही वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद तथा अश्विनी कुमार ने पार्टी के इस फैसले के खिलाफ खुलेआम बयान दिया कि पार्टी गलत कर रही है, उसके वाद उपराष्ट्रपति श्री वैंकैया नायडू जी ने इस महाभियोग प्रस्ताव को ही खारिज कर दिया. कांग्रेस के इस फैसले के खिलाफ पूरे देश की जनता न्यायाधीश दीपक मिश्रा के पक्ष में उठ खड़ी हो गई थी, अब कांग्रेस की सहयोगी तथा पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले को लेकर बड़ा बयान दिया है.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस का प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का नोटिस देना गलत था. उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस ने महाभियोग प्रस्ताव के लिए दिए गए नोटिस का समर्थन नहीं किया था. मुख्यमंत्री ममता ने कहा, ‘कांग्रेस द्वारा प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का नोटिस देना गलत था. ममता बनर्जी ने कहा कि कांग्रेस इसके लिए हमारा समर्थन चाहती थी लेकिन हमने साफ़ कर दिया था कि ये गलत कार्य है जिसका हम समर्थन नहीं कर सकते हैं.
ममता बनर्जी ने कहा कि मैंने सोनिया गांधी, राहुल गांधी से महाभियोग नोटिस ना देने को कहा था. ममता के मुताबिक उन्होंने कांग्रेस को कहा था कि ये फैसला आत्मघाती हो सकता है और न्यायपालिका पर हमें सवाल खड़े नहीं करने चाहिए लेकिन कांग्रेस नहीं मानी इसके बाद ममता के मुताबिक उन्होंने साफ़ कलर दिया कि उनकी पार्टी न्यायपालिका में हस्तक्षेप नहीं चाहती है. गौरतलब है कि कांग्रेस के नेतृत्व में सात विपक्षी दलों ने विभिन्न आरोपों को लेकर प्रधान न्यायाधीश पर महाभियोग चलाने के लिए उपराष्ट्रपति और राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू के पास भेजा था, जिसे उन्होंने सोमवार को पर्याप्त आधार ना होने की बात कहकर नामंजूर कर दिया था। 
Share This Post

Leave a Reply