बस थोड़े ही दिनों की ये सरकार है सौरभ, उसके बाद न तुम बचोगे न ये तुम्हारा हिंदुत्व.. इतना कहा और फोन काट दिया..

जिस समय JNU में गद्दारों ने भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाए थे, उस समय एक शख्श था जो इन गद्दारों के खिलाफ खड़ा खड़ा था. JNU में वामपंथी लोगों द्वारा हो रहे भारतीय संस्कृति के छरण के बीच जो शख्श प्रमुखता के साथ इनके नापाक मंसूबों को कुचल रहा था वो था अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् का छात्र नेता सौरभ शर्मा. जब जब JNU से राष्ट्र के खिलाफ आवाज उठी, सौरभ शर्मा ने उस आवाज को दफ़न करने का काम किया, यही कारण है कि सौरभ शर्मा गद्दारों को खलने लगा है तथा सौरभ शर्मा को जान  से मारने की धमकिया दी जा रही हैं.

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र नेता सौरभ शर्मा को लगातार धमकी भरे पत्र मिलने के बाद पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर ली है . पुलिस ने दो अलग-अलग धमकी भरे पत्रों पर दो एफआईआर दर्ज की हैं, जिसमें भारतीय दंड संहिता के तहत ५०६ और ५०७ की धारा में केस दर्ज किए गए हैं. सौरभ को १४ जून से २० जून तक ५ धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं. सौरभ ने बताया कि उन्हें अब तक ५ धमकी भरे पत्र मिल चुके हैं. ऐसे ही २ और पत्र आए जिसकी शिकायत पुलिस में दर्ज करा दी है. सौरभ ने बताया कि पत्र में लिखा है, ‘सौरभ शर्मा जब से तुम जेएनयू में आए हो, अपनी गंदी राजनीति कर रहे हो. अपनी हरकतों से बाज आ जाओ, वरना जान से हाथ धोना पड़ेगा.’ जबकि एक पत्र में लिखा है, ‘सौरभ शर्मा, जिनके दम पर तुम जेएनयू में बदलाव लाने का सपना देख रहे हो, वो अब दोबारा सियासत में आनेवाले नहीं हैं. जान प्यारी है तो हमारी यूनिवर्सिटी को छोड़कर चले जाओ वरना अंजाम भुगतने को तैयार रहना.’ इसके अलावा एक और पत्र मिला है जिसमें कहा गया है , ‘यूनिवर्सिटी में तुमने जो कुछ भी किया है उसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. कोई हिंदु या कोई भक्त तुम्हें बचाने नहीं आएगा. तुमने मुसलमानों से और हमसे दुश्मनी कर अपनी जिंदगी की सबसे बड़ी गलती की है.’

सौरभ ने बताया कि पिछले तीन महीने से यौन उत्पीड़न के आरोपी महेंद्र लामा के विरुद्ध आरएसएस का छात्र संगठन अभाविप (ABVP) लगातार प्रदर्शन कर रहा है और प्रदर्शन करने के दौरान लामा ने उन्हें सरेआम जान से मारने की धमकी दी थी. इस धमकी के आधार पर उन्होंने महेंद्र लामा का नाम शिकायत की, जिसके बाद पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. उन्होंने कहा कि हम ऐसे धमकी भरे हुए पत्रों से डरनेवाले नहीं हैं. उंन्होने कहा कि अफजल गैंग को सौरभ शर्मा खटकने लगा है लेकिन सौरभ इतनी आसानी से मरने वाला नहीं है. सौरभ ने कहा कि हम पुलिस प्रशासन से मांग करते हैं कि इस मामले की जांच की जाए और आरोपी के विरुद्ध कडी से कडी कार्रवाई की जाए तथा जेएनयू प्रशासन से कैंपस में सुरक्षा व्यवस्था ठीक करने और कैंपस के सार्वजनिक स्थलों पर सीसीटीवी कैमरे लगवाये जिससे छात्र समुदाय सुरक्षित रहे. इस संदर्भ में उप कुलपति को भी एक शिकायत दर्ज कराई है. सौरभ शर्मा ने कहा है कि वह इन धमकियों से डरने वाले नहीं है बल्कि अब और और ज्वलंत रूप से भारतीय संस्कृति तथा भारतमाता की रक्षा के लिए संघर्ष करते रहेंगे.

Share This Post