उर्दू अखबार का दावा .. राहुल गांधी ने एलान किया – “हाँ, कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है “

जिस बयान को मोदी ने एक आरोप के रूप में लगाया था उसको खुद ही शायद राहुल गांधी ने स्वीकार कर लिया है और बयान देते हुए साफ साफ स्वीकार किया है कि हाँ, कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है ..इस स्वीकारोक्ति के बाद राजनीति में उथलपुथल मचनी शुरू हो गयी है और राहुल गांधी के दर्शन और जनेऊ आदि के दिखावे पर सवाल उठने लगे हैं ..इतना ही नही, इस बयान को आने वाले 2019 के चुनावो का आधार माना जा रहा गई ..

उर्दू अखबार इंकलाब का दावा है कि राहुल गांधी ने मुस्लिम जनप्रतिनिधियों से मुलाकात में साफ तौर पर कहा कि वो खुद मान रहे हैं कि उनकी पार्टी मुसलमानों की पार्टी है और अगर सन 2019 में कांग्रेस पार्टी सत्ता में आएगी तो मुसलमानों कु भलाई के लिए तमाम योजनाएं शुरू करेगी .. राहुल गांधी ने कहा कि आज देश के मुसलमानों को साथ और सहयोग की जरूरत है जो कांग्रेस पार्टी 2018 में सत्ता में आने के बाद प्राथमिकता के रूप में करेगी ..

राहुल गांधी के इस बयान के बाद उन हिंदुओं का ध्रुवीकरण भारतीय जनता पार्टी के पक्ष में होना शुरू हो गया है जो किसी कारण से हिंदुत्व को आधार बना कर कुछ मुद्दों पर मोदी का विरोध कर रहे थे ..दबी जुबान से कुछ राजनीतिक जानकर ये भी मान रहे हैं कि इस बयान को दे कर राहुल गांधी ने अपने उन नेताओं के लिए मुसीबत पाल ली जो हिन्दू बहुल क्षेत्रों में रह कर इस बार अपनी जोर आजमाइश मोदी के विरोध को आधार बना कर कर रहे थे . 

Share This Post

Leave a Reply