भाजपा के खिलाफ एक हुई वामपंथी और कांग्रेसी विचारधारा . राहुल गाँधी खड़े हुए गिरफ्तार वामपंथियो के साथ

ये गठबंधन कभी सत्ता के शीर्ष पर देखा जाता था जब सरकार बनाने के लिए कांग्रेसी और वामपंथी विचारधारा एक हो जाया करते थे. इतना ही नहीं उसी में समाजवादी विचारधारा और बहुजन विचारधारा भी शामिल हो जाया करती थी लेकिन अब इस प्रकार का मेल उन मामलों में जुड़ा है जो देश की सुरक्षा से इस हद तक जुड़े हैं की उसमे प्रधानमन्त्री के हत्या तक की साजिश शामिल हैं . ऐसे में फिर से कांग्रेस ने दिखाया अपना नया रूप ..

ज्ञात हो की देश को दलित, सवर्ण और मराठा आदि के मुद्दे पर बांटने के लिए साजिशन रचे गये भीमा कोरेगांव हिंसा के मामले में महाराष्ट्र पुलिस ने बेहद तत्परता दिखाई है और अथक प्रयास करते हुए पांच राज्‍यों में छापेमारी के बाद कई वामपंथी विचारकों को गिरफ्तार किया गया है। भीमा कोरेगांव हिंसा की जांच के दौरान पीएम मोदी की हत्‍या की साजिश का भी खुलासा हुआ था जिसके स्पष्ट प्रमाण भी सबके सामने चिट्ठी और फोन अदि के रूप में आये हैं . पुलिस की सक्रियता के चलते हुए इस बेहद सनसनीखेज खुलासे के बाद महाराष्‍ट्र, गोवा, दिल्‍ली, तेलंगाना और झारखंड में छापेमारी की जा चुकी है और 5 वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी की जा चुकी है।

अब इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी को लेकर बीजेपी और आरएसएस पर आक्रामक हो गये हैं . कहना गलत नहीं होगा की वामपंथियो की गिरफ्तारी पर बुरी तरह से भडक गये हैं राहुल गाँधी और इसको अघोषित आपातकाल तक बता डाला है . इतना ही नहीं राहुल गांधी ने पीएम मोदी की हत्या की साजिश के आरोप में 5 वामपंथी विचारकों की गिरफ्तारी पर तंज किया है। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘यहां सिर्फ एक ही एनजीओ के लिए स्थान है और वो है राष्ट्रीय स्वंयसेवक संघ, बाकियों को बंद कर दो। सभी कार्यकर्ताओं को गोली मार दो, जेल भेज दो, ये न्यू इंडिया है।’ यद्दपि ये पहला अवसर नही आया है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राष्ट्रीय स्वय सेवक संघ को निशाने पर लिया हो .. अपने लंदन के दौरे पर भी राहुल गांधी ने अरब के मुस्लिम ब्रदरहुड की तुलना आरएसएस से की थी .

Share This Post