संघ और भाजपा के कार्यकर्ताओं से शिक्षा लें कांग्रेसी — राहुल गांधी

कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी हमेशा भारतीय जनता पार्टी तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की खिलाफत करते हैं तथा इन पर हमला बोलते रहते हैं. वर्तमान समय में तो राहुल गांधी भाजपा व आरएसएस पर पूरी तरह से हमलावर हैं. आप ऐसी कल्पना भी नहीं कर सकते कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भाजपा या संघ की तारीफ़ करें. लेकिन इस बार राहुल गांधी ने न सिर्फ संघ व भाजपा की तारीफ़ की है बल्कि उन्होंने कहरेस कार्यकर्ताओं से भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं तथा राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं से प्रेरणा लेने की, उनसे सीखने की अपील की है.

गौरतलब है कि पार्टी अध्यक्ष बनने के बाद राहुल गांधी कांग्रेस के नट-बोल्ट टाइट करने में लगे हुए हैं. इसी बीच उन्होंने आगामी चुनावों में कामयाबी के लिए अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि वह कड़ी मेहनत से क्यों बचते हैं. अपने कार्यकर्ताओं को उन्होंने आगामी चुनाव में उतरने के लिए जीत का मंत्र भी दिया. राहुल गांधी ने इसके लिए उन्हें आरएसएस और भाजपा का भी उदाहरण दिया.राहुल गांधी ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि वह लोग भाजपा और आरएसएस से सीख लें. गौरतलब है कि राहुल गांधी पहले भी कह चुके हैं कि वह आरएसएस की तरह अब अपने पुराने संगठन कांग्रेस सेवादल को मजबूत करेंगे. पहले कांग्रेस के नेता सेवादल से ही आते थे, लेकिन बाद में यह संगठन कमजोर होता गया. रविवार को हुई कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक में राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं से कहा, हम कठिन मोर्चे पर काम करने से कतराते हैं. राहुल ने कहा कि दशक भर पहले आदिवासी कांग्रेस को वोट करते थे. लेकिन बीजेपी, RSS के लोग आदिवासियों के बीच गए उनके साथ काम किया उन्हें समझाया. आज वह बीजेपी को वोट करते हैं.

कांग्रेस कांग्रेस के सूत्रों के मुताबिक़, कांग्रेस = को मजबूत करने के लिए पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी कांग्रेस सेवा दल को फिर से सक्रिय करने की तैयारी में जुटे हैं. उन्होंने सेवा दल को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के मुकाबले खड़ा करने की योजना तैयार की है.” दरअसल, कांग्रेस सेवा दल का गठन वर्ष 1923 में हिंदुस्तान सेवा दल के नाम से हुआ था. बाद में इसे कांग्रेस सेवा दल का नाम दे दिया गया.

Share This Post